Ruk Jana Nahi Yojna 2020 : भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मध्य प्रदेश राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा 'रुक जाना नहीं योजना' के तहत दसवीं व बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों की परीक्षा सोमवार से शुरू हुई। इसमें प्रदेश भर से डेढ़ लाख विद्यार्थी शामिल हुए। इस परीक्षा में वे विद्यार्थी शामिल हुए, जो माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षा में फेल हुए थे। राजधानी में 20 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। दो पाली में परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई। दसवीं की परीक्षा सुबह 8 से 11 बजे तक और बारहवीं की दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक हुई। परीक्षा केंद्रों पर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए गए थे। परीक्षा केंद्रों को पहले से ही सैनिटाइज किया गया था। वहीं परीक्षा केंद्र पर प्रवेश से पहले विद्यार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई और उन्हें सैनिटाइज किया गया।

सभी विद्यार्थियों को मास्क अनिवार्य किया गया था। परीक्षा कक्ष के अंदर 6 फीट की दूरी का भी ध्यान रखा गया। एक बेंच पर सिर्फ एक विद्यार्थी को बैठाया गया। अधिकारियों ने बताया कि इस परीक्षा में 90 फीसद विद्यार्थी शामिल हुए हैं। वहीं दूसरी ओर माध्यमिक शिक्षा मंडल की बारहवीं बोर्ड की विशेष परीक्षा भी आयोजित की गई।

विशेष परीक्षा में 251 विद्यार्थी शामिल हुए

माध्यमिक शिक्षा मंडल की 12वीं बोर्ड की विशेष परीक्षा भी सोमवार से शुरू हुई। इस विशेष परीक्षा में कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके या क्वारंटाइन परिवार के विद्यार्थी शामिल हुए। यह परीक्षा तीन दिन तक आयोजित होगी। इसमें एक दिन में छह विषयों के पेपर लिए जा रहे हैं। सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक आयोजित परीक्षा में अलग-अलग संकाय के विद्यार्थी शामिल हुए। प्रदेश भर से 251 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। वहीं राजधानी के टीटी नगर स्थित मॉडल स्कूल में आयोजित विशेष परीक्षा में भोपाल जिले के 15 विद्यार्थी शामिल हुए।

रुक जाना नहीं के तहत आयोजित 10वीं व 12वीं की परीक्षा और विशेष परीक्षा के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए गए थे। दोनों परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्ना हुई।- नितिन सक्सेना, जिला शिक्षा अधिकारी

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local