संजय कुमार शर्मा, उमरिया । बांधवगढ़ पर बनी फिल्म 'सफारी विथ सुयश" की स्क्रीनिंग दो दिन पहले भोपाल में हुई। इस फिल्म को प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने भी देखा और कहा कि कमाल कर दिया। सीमित संसाधन में वाइल्ड लाइफ पर बनी इस फिल्म में ताला के एक जिप्सी चालक और गाइड ने भी काम किया है। दिल्ली के रहने वाले सुयश केसरी ने इस फिल्म का निर्माण किया है। बताया गया है कि फिल्म के प्री शूट और पोस्ट शूट में छह महीने का समय लगा था। फिल्म को शूट करने में तीन महीने का समय लगा और शूटिंग के बाद तीन महीने में फिल्म की एडिटिंग आदि का काम किया गया। इस बारे में जानकारी देते हुए फिल्म के डायरेक्टर सुयश केसरी ने बताया कि फिल्म को डब्ल्यूडब्ल्यूएफ इंटरनेशनल के लिए बनाया गया है।

चालक और गाइड से मिले सीएम

फिल्म सफारी विथ सुयश में जिप्सी चालक और गाइड के रूप में दिखाई देने वाले दोनों लोग उमरिया जिले के ताला के रहने वाले हैं और बांधवगढ़ में रजिस्टर्ड चालक और गाइड हैं। चालक नरेश सिंह और गाइड राजेश साहू जब फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान भोपाल पहुंचे तो सीएम कमलनाथ ने उनके काम की भी जमकर सराहना की और कहा कि पर्यटन ऐसे ही जागरूक चालक और गाइड के दम पर बेहतर ढंग से चल रहा है।

जंगल सफारी को प्रमोट करती है फिल्म

सफारी विथ सुयश बांधवगढ़ में बनी फिल्म जंगल और जंगल के जानवरों के सौंदर्य को प्रदर्शित करती है। यह फिल्म बांधवगढ़ के सौंदर्य का वर्णन करती हुई आगे बढ़ती है और जंगल की दुनिया में दिलचस्पी रखने वालों को आकर्षित करती है। इस फिल्म को बनाने का उद्देश्य भी यही है कि ज्यादा से ज्यादा लोग जंगल पहुंचे और सफारी करेंं। इस फिल्म में बांधवगढ़ के सबसे सुंदर दृश्यों को शूट किया गया है।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket