वैभव श्रीधर

भोपाल। विधायक पद से इस्तीफा कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजने वाले संजय पाठक शनिवार को भी प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे। उन्होंने एआईसीसी सचिव और पीसीसी के प्रदेश प्रभारी राकेश कालिया और पीसीसी के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष रामेश्वर नीखरा से मुलाकात की।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी में शनिवार दोपहर में एकबार फिर विधायक संजय पाठक पहुंचे तो मीडिया ने उन्हें घेर लिया। मगर वे राकेश कालिया और रामेश्वर नीखरा से मुलाकात करने तीसरी मंजिल पर चले गए। वहां उन्होंने अकेले में दोनों नेताओं से करीब आधा घंटे बातचीत की।

नेताओं से बातचीत के बाद संजय पाठक ने कहा कि वे पीसीसी में केवल जबलपुर लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तनखा के चुनाव प्रचार के सिलसिले में बात करने आया था। इसके अलावा उन्होंने अपने विधायक पद के इस्तीफे को लेकर साफ किया कि उन्होंने इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजा है। वहां से अभी इस्तीफा को स्वीकार करने या अस्वीकृति को लेकर कोई जवाब नहीं आया है। मैंने तो मतदाताओं की आवाज पर इस्तीफा दिया है और जो भी फैसला सोनिया गांधी लेंगी वह स्वीकार करूंगा। मेरे खून में कांग्रेस समाई है और उसे छोड़ने की सोच नहीं सकता।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना