Satpura Tiger Reserve: भोपाल (राज्य ब्यूरो)। केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री भगवंत खूबा को प्रतिबंध अवधि (पार्क बंद रहने की अवधि) में सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में सफारी कराने के मामले की फिर से जांच कराई जाएगी। पार्क संचालक एल. कृष्णमूर्ति ने शिकायतकर्ता एवं सूचना के अधिकार कार्यकर्ता अजय दुबे का पक्ष सुने बगैर जांच पूरी कर प्रकरण समाप्त कर दिया था। दुबे ने इस पर आपत्ति ली, तो वन्यप्राणी मुख्यालय ने पार्क संचालक को फिर से जांच करने के निर्देश दिए हैं।

दुबे ने राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनसीटीए) से शिकायत की थी कि पार्क प्रबंधन ने केंद्रीय राज्यमंत्री को 23 सितंबर को गुपचुप तरीके से पार्क की सैर करा दी, जबकि एक जुलाई से 30 सितंबर तक पार्क बंद रखे जाते हैं। राज्यमंत्री ने पार्क की सैर का एक वीडियो अपने फेसबुक और टि्वटर पर प्रसारित भी कर दिया, जिसे सुबूत के रूप में प्रस्तुत करते हुए दुबे ने राज्यमंत्री पर वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की मांग की थी।

वन्यप्राणी मुख्यालय ने मामले की जांच पार्क संचालक एल. कृष्णमूर्ति को सौंपी थी। कृष्णमूर्ति ने प्रकरण समाप्त कर रिपोर्ट दे दी। वन्यप्राणी मुख्यालय ने यह जानकारी एनसीटीए को भेजी। जब दुबे को इसका पता चला तो उन्होंने फिर से शिकायत की कि उनका पक्ष तो सुना ही नहीं गया, जबकि उनके पास प्रमाण भी हैं। इस पर वन्यप्राणी मुख्यालय के अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक शुभरंजन सेन ने फिर से जांच कर वस्तुस्थिति स्पष्ट करने के निर्देश दिए हैं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close