भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। शाहपुरा के दानापानी रेस्टारेंट मार्ग पर स्थित डीके देवस्थली कालोनी

परिसर के सामने मुख्य मार्ग पर देहली पब्लिक स्कूल नीलबड़ की बस ने बाइक सवार भाईयों को टक्कर मार दी। ओवरटेक करते समय बाइक को बस टक्कर मारकर बीस फीट के करीब घसीटते ले गई। इसमें बड़े भाई की मौके पर मौत हो गई।जबकि छोटे भाई को नाजुक हालत में एम्स में भर्ती कराया गया है। बाइक सवार

दोनों घर से मार्केट से सामान लेने जा रहे थे। हादसे में चौंकाने वाली घटना यह है कि बाइक बस के नीचे फंसने से बस पलट भी सकती थी,लेकिन शुक्र रहा है कि हादसा टल गया। घटना के बाद पुलिस ने बच्चों को सुरक्षित बस से

निकालकर दूसरे वाहन से घर भिजवाया। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर स्कूल बस को जब्त कर लिया है। शाहपुरा थाना प्रभारी एमके मिश्रा के मुताबिक ग्राम बावाडिया कलां निवासी 16 साल का लक्ष्मण भिलाला अपने छोटे भाई हर्ष भिलाला (12) को साथ लेकर आधे घंटे में लौटने का कहकर निकले थे। वह घर से निकलकर दानापानी रेस्टोरेंट रोड स्थित डीके देवस्थली कॉलोनी के सामने पहुंचे ही थे, डीपीएस स्कूल बस को ओवरटेक करते समय स्कूल बस ने पीछे से बाइक सवार लक्ष्मण उर्फ लक्की भिलाला को टक्कर लगी होगा । इससे छोटा भाई हर्ष दूर जाकर गिरा। जबकि लक्ष्मण बस की चपेट में आ गया था।

बस के बोनट में फंस गई बाइक, बीस फीट घिसटी

चश्मदीदों ने बताया कि बस की टक्कर से लक्ष्मण की मौके पर मौत हो गई थी। उसकी बाइक बस के बोनट में फंसकर करीब बीस फीट तक बस के साथ घिसटती चली गई थी। सड़क पर घिसटने के निशान साफ- साफ नजर आ रहे थे। हादसे के बाद बस का चालक मौके से फरार हो गया था। जबकि उसके छोटे भाई हर्ष को नाजुक हालत में एम्स में भर्ती कराया गया है। उनके पिता निर्भय भिलाला सब्जी का काम करते हैं। उनके दो ही बेटे थे। मृतक लक्ष्मण नवीं कक्षा का छात्र था और हर्ष सातवीं कक्षा में पढ़ता है।

बस में सवार थे स्कूल के बच्चे

घटना के समय बस में स्कूल के बच्चे सवार थे। हादसे के बाद बस में सवार बच्चे काफी डर गए थे। चश्मदीद गोलू ने बताया कि स्कूल बस का चालक बस को हादसे के बाद भागने की फिराक में था। शोर मचाया तब उसने बस को रोका था। इस हादसे में बस के नीचे बाइक फंसने के कारण बस पलट सकती थी।

बस के नीचे से बाइक को निकालने बुलानी पड़ी क्रेन

बस की रफ्तार का इस बात से साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि बस के नीचे मृतक लक्ष्मण की बाइक फंस गई थी। उसे पुलिस को निकालने के लिए क्रेन को बुलाना पड़ी। उससे पहले पुलिस काफी कोशिश कर चुकी थी,लेकिन बाइक नहीं निकली थी।

पुलिस और मृतक के परिवार में हुआ विवाद

घटना के बाद मृतक परिवार के लोग और गांव के लोग मौके पर पहुंच गए थे। वह बस में तोड़फोड़ और आग लगने की कोशिश में थे,लेकिन समय रहते पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद पुलिस ने उनको रोका और समझाइश दी। तब जाकर वह लोग माने। तब पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल भिजवाया। घायल को अस्पताल भेजा। जब जाकर मौके से स्कूल बस को मौके से हटाया जा सका।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close