भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। बागसेवनिया इलाके में स्थित वीर सावरकर ब्रिज के सेंटर बर्ज पर रखे गमलों के को गिराने वाले हुड़दंगियों की पुलिस दस दिन बाद भी पहचान नहीं कर पाई है। पुलिस ने आसपास के करीब 30 सीसीटीवी खंगाले हैं, लेकिन आरोपितों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है। पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि मामले में शिकायत पर जांच जारी है। मालूम हो कि वीर सावरकर सेतु पर रखे सुंदर गमलों के अज्ञात आरोपितों ने तोड़ दिया था। इसके बाद मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पूरे मामले में भोपाल पुलिस के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई थी। उसके बाद बागसेवनिया थाने में एफआइआर दर्ज की गई थी। इस मामले में पुलिस एफआइआर दर्ज कर मामले में खानापूर्ति कर मामले को दफन कर दिया है। सीएम की नाराजगी के बाद भी पुलिस हुड़दंगियों के बारे में यह पता नहीं लगा पाई है। जिनके द्वारा गमले तोडे गए थे। इधर, पुलिस की हालत यह हो रही है ब्रिज पर रोजाना कई लोग रात में खडे होकर हंगामा करते हैं। इसके बाद पूर्व में भी पुलिस को इसके बारे में

शिकायत की जा चुकी है, लेकिन पुलिस ने इन शिकायतों को कभी गंभीरता से नहीं लिया है। इस कारण इस ब्रिज पर सीसीटीवी शुरूआत और अंत में लगे हैं। बीच में कोई सीसीटीवी न होने से पुलिस को कोई सबूत नहीं मिल पाया

है। इस कारण से गमले तोड़ने वालों का पुलिस सुराग नहीं लगा पा रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले में जांच जारी है। जल्द आरोपितों को पकड़ लेंगे।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local