भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। तिनका-तिनका फाउंडेशन की ओर से कैदियों और जेल अधिकारियों/कर्मचारियों का राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए चयन किया गया। जेलों में रहकर समाज के प्रति कला के माध्यम से अपनी संवेदना व्यक्त करने वाले बंदियों को यह पारितोषिक गुरुवार को भोपाल सेंट्रल जेल में आयोजित कार्यक्रम में दिए गए।

तिनका-तिनका फाउंडेशन से मिली जानकारी के मुताबिक देशभर की जेलों सें कुल 16 कैदियों और दो जेल अधकारियों को इन पुरस्कारों के लिए चुना गया। इनमें मप्र की जेलों के तीन बंदी शामिल हैं। पुरस्कार अरविंद कुमार, (आइपीएस) महानिदेशक. मध्य प्रदेश जेल और सुधारात्मक सेवाएं द्वारा प्रदान किए गए। मानवाधिकार दिवस (10 दिसंबर) के उपलक्ष्य में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जेल में विशेष कार्य के लिए इस साल भारत भर से दो जेलकर्मियों को चुना गया। जय किशन छिल्लर, अधीक्षक, जिला जेल फरीदाबाद को जेल टेलीफोन, जेल रेडियो और इग्नू के जरिए शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण कार्यों के लिए सम्मानित किया गया। वहीं महाराष्ट्र के नासिक रोड सेंट्रल जेल के अशोक शिवराम करकरे, जेलर ग्रेड-एक को यह सम्मान जेल विभाग के लिए उनकी विशेष सेवाओं के लिए दिया गया

इन बंदियों को मिला पुरस्कार

नाम -- जेल

अथर अली -- सेंट्रल जेल भोपाल

रूपेंद्र मिश्रा -- सेंट्रल जेल सतना

पलक पुराणिक -- जिला जेल इंदौर

सोनिया चौधरी -- करनाल जेल (हरियाणा)

मनीष बाबूभाई परमार -- अहमदाबाद जेल

शिवमोहन सिंह -- रायबरेली जेल

रविशंकर -- सेंट्रल जेल बिलासपुर

तौकीर हसन खान -- सेंट्रल जेल ठाणे

प्रभु -- सेंट्रल जेल कोयंबटूर

शत्रुहन -- सेंट्रल जेल बिलासपुर

रमेश पटेल -- सेंट्रल जेल बिलासपुर

आनंद -- जिला जेल करनाल

जितेंद्र मेवालाल मौर्य -- सेंट्रल जेल सूरत

मनीष -- तिहाड़ जेल दिल्ली

आशीष कपिल भाई नंदा -- जिला जेल राजपीपला

रजनीश मोहनलाल ठाकुर -- सेंट्रल जेल नासिक

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local