Bhopal CyberCrime News: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना काल में ऑनलाइन ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। कभी फर्जी लिंक भेजकर तो कभी कैश बैक का झांसा देकर लोगों के खाते से रुपये निकाल लिए जा रहे हैं, लेकिन पुलिस सिर्फ प्रकरण दर्ज कर अपने कर्तव्‍य की इतिश्री कर रही है। हाल ही में शहर के विभिन्न् थानों में ऐसे कई प्रकरणों में एफआइआर दर्ज की गई है। अब साइबर क्राइम में की गईं दो शिकायतों के प्रतिवेदन कोलार थाने पहुंचे हैं, जिनमें पुलिस ने केस रजिस्टर्ड कर लिया है। आरोपितों ने दोनों फरियादियों के अकाउंट से करीब 80 हजार रुपये उड़ा लिए थे।

कोलार थाना पुलिस के मुताबिक ईसी थॉमस (68) यूबी सिटी कोलार रोड पर रहते हैं। पिछले साल एक अक्टूबर को अज्ञात व्यक्ति ने उन्हें फोन किया और खुद को एक ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने वाली कंपनी का प्रतिनिधि बताया। उसका कहना था कि कंपनी की तरफ से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने पर कैशबैक की सुविधा दी जा रही है, जिसमें आपको भी कैशबैक मिला है। युवक ने थॉमस से कहा कि एक लिंक भेजी है, जिसे क्लिक करने पर कैशबैक मिल जाएगा। थॉमस ने जैसे ही मोबाइल पर आई लिंक को क्लिक किया, वैसे ही उनके अकाउंट से 39 हजार 499 रुपये कट गए। उसके बाद जालसाज का फोन बंद हो गया। इसी प्रकार महाबली नगर कोलार रोड निवासी सुरेशचंद्र गाठिया को लिंक भेजकर जालसाज ने इतने ही रुपये उड़ा लिए। दोनों ही मामलों में साइबर क्राइम में शिकायत की गई थी। जांच के बाद प्रतिवेदन थाने पहुंचा, जहां पुलिस ने अज्ञात जालसाजों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

ओएलएक्‍स पर विज्ञापन देकर 15 हजार रुपये ठगे

इधर, गोविंदपुरा के भारती निकेतन निवासी मुकेश सूर्यवंशी से ओएलएक्स पर मोपेड खरीदने के नाम पर 15 हजार रुपए ऐंठ लिए गए। जालसाज ने खुद को आर्मीमैन बताकर विज्ञापन दिया था। इसके बाद ऑटो चालक मुकेश से चार किश्तों में 15 हजार रुपए डलवाकर फोन बंद कर लिया। वहीं, शक्ति नगर, साकेत नगर में ज्योति मिश्रा के साथ किराए के मकान के नाम पर जालसाज आर्मीमैन ने चार हजार रुपए ऐंठ लिए। गोविंदपुरा पुलिस ने जांच के बाद अज्ञात आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local