भोपाल। मध्यप्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने आरोप लगाया कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के लोकसभा-राज्यसभा के 36 सदस्य अतिवृष्टि से हुए नुकसान के लिए केंद्र सरकार से सहायता दिलवाने की जगह रुकवाने में जुटे हैं। इन्होंने मध्यप्रदेश को केंद्र सरकार की सहायता वाली योजनाओं में मिलने वाली प्रदेश के हिस्से की राशि रुकवा दी है।

उन्होंने मांग की है कि बारिश से हुए नुकसान में लोगों को तात्कालिक मदद के लिए अभी केंद्र से तत्काल दो हजार करोड़ रुपए जरूरत है, जिसे तुरंत उपलब्ध करवाया जाए।

गृह मंत्री बच्चन ने मंगलवार को राजधानी में हुई पत्रकारवार्ता में भाजपा पर जमकर हमले किए। उन्होंने कहा कि 2016 में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के शुभारंभ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि बारिश या आपदा से किसान को नुकसान होगा तो तत्काल 25 फीसदी राशि मिल जाएगी, लेकिन आज तक कभी भी किसान को बीमा योजना से तत्काल सहायता नहीं मिली। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर झूठी बयानबाजी करने का आरोप भी लगाया।

काम करते हैं प्रचार नहीं

गृह मंत्री से जब यह सवाल किया गया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सरकार का कोई मंत्री नहीं पहुंच रहा है, जबकि शिवराज सिंह चौहान व भाजपा नेता लोगों के पास पहुंच रहे हैं तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार प्रचार नहीं, काम करती है।

गुजरात सरकार नहीं कर रही मदद

सरदार सरोवर बांध के डूब प्रभावित लोगों को लेकर बच्चन ने कहा कि गुजरात सरकार उनकी मदद नहीं कर रही है। पुनर्वास स्थल पर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं करवाई गई हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ को डूब प्रभावितों की चिंता है और वे दो बार पत्र भी लिख चुके हैं। इस मामले को सरकार उलझा रही है। बच्चन ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिन मनाने के लिए बांध को जल्द भर दिया गया, जिससे डूब क्षेत्र में लोग परेशान हो रहे हैं।

ग्वालियर-चंबल की समीक्षा करने जा रहे

गृह मंत्री ने एसपी भिंड पर रेत माफिया को संरक्षण देने के मंत्री-विधायकों के आरोपों पर कहा कि वे ग्वालियर-चंबल संभाग के अपराधों की समीक्षा करने जा रहे हैं। इस मुद्दे को भी देखेंगे। सतना के बबली कौल-लवलेश कौल एनकाउंटर पर कहा कि दोनों गैंगवार नहीं, बल्कि पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं।

Posted By: Hemant Upadhyay