भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि, Corona pandemic in Bhopal:। कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों के साथ शहर में गंभीर मरीजों की संख्‍या भी बढ़ रही है। इसके साथ-साथ शहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन का टोटा हो गया है। शहर में किसी भी मेडिकल दुकान में यह इंजेक्शन उपलब्ध नहीं है। गुरुवार को कोरोना मरीजों के परिजन को घंटों कतार में खड़े रहने के बावजूद इंजेक्शन नसीब नहीं हो पाए। हैरत तो यह है कि एम्‍स के सामने एक मेडिकल दुकान में इंजेक्शन उपलब्ध होने की बात पता चलते ही लोगों की भीड़ जमा हो गई। इसे देखते हुए पुलिस बुलानी पड़ी। इंजेक्शन की जद्दोजहद के तहत कई बार तो विवाद की स्थति भी बनी। बदइंतजामी का आलम यह है कि अधिकारियों को इस बात का पता ही नहीं है कि शहर में रेमडेसिविर की किल्लत चल रही है। वहीं इस इंजेक्शन की उपलब्धता की जिम्मेदारी संभाल रही डिप्टी कलेक्टर को भी इस बात की जानकारी नहीं है।

इधर, कलेक्टर ने जिले में रेमडेसिविर इंजेक्शन के उपयोग को लेकर सख्त आदेश जारी किए है। निर्देशक एवं अधीक्षक, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, भोपाल, अधिष्ठाता गांधी मेडिकल कालेज सहित समस्त शासकीय और अशासकीय चिकित्सा महाविद्यालय, भोपाल, समस्त शासकीय चिकित्सालय, संचालक एवं अधीक्षक, समस्त अशासकीय चिकित्सा नर्सिग, भोपाल को रेमडेसिविर इंजेक्शन का आपातकालीन और निर्देशित परिस्थितियों में ही उपयोग करने के लिए कहा है। वहीं इसका रिकॉर्ड भी अलग से बनाए रखने के लिए कहा गया है।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags