भोपाल, नवदुनिया न्यूज। स्थान संत आसाराम बापू तिराहा। शुक्रवार दोपहर के 1:30 बजे थे। आरटीओ और ट्रैफिक पुलिस की टीम चैकिंग के दौरान एक कैब को पकड़ती है तो एक महिला ड्राइवर गुहार लगाने लगती है। ... साहब विधवा हूं। मेरे परिवार की कैब टैक्सी से ही रोजी-रोटी चलती है। प्लीज छोड़ दीजिए। अभी जाकर पीयूसी करा लूंगी। हम तीन हजार रुपए जुर्माना देने में सक्षम नहीं हूं।

ट्रैफिक पुलिस डीएसपी विलास वाघमारे ने महिला की गुहार पर ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा- मेडम मैं कुछ नहीं कर सकता। जुर्माना तो आपको देना ही होगा। यह कहते हुए डीएसपी अन्य वाहनों की चैकिंग करने लगे। दोपहर 2 बजे तक 2 दर्जन वाहनों की जांच की।

इस दौरान 5 से 6 लो फ्लोर बसें धुंए का गुबार छोड़ते हुईं निकलीं पर अमले ने एक को भी नहीं रोका। बसों में सवारियां ज्यादा भी बैठी हुई थीं। इसके बाद भी बसों की जांच नहीं की गई। 2ः15 बजे गांधीनगर से ऑल सेंट्स स्कूल की बस आईं, जिसमें क्षमता से ज्यादा बच्चे बैठे थे। बस की जांच कर ओवर लोडिंग का जुर्माना लगाया गया।

संत आसाराम बापू आश्रम की बस जब्त

चैकिंग के दौरान संत आसाराम बापू आश्रम की बस बिना पीयूसी के मिली जिसे जब्त कर लिया। इसी तरह दुपहिया व चार पहिया वाहनों की नंबर प्लेट निकलवाई गईं। पुलिस पैरों से स्टाइलिश नंबर प्लेटों को तोड़ दिया। इससे वाहन चालकों से कहासुनी भी हुई। एक लड़की रोते हुए बोली आपको पैसे तो दे दिए हैं अब गाड़ी क्यों तोड़ रहे हो। इस पर महिला पुलिस ने लड़की को फटकार लगाकर शांत कर दिया।

बीच सड़क से लौटा लिए वाहन

आरटीओ व ट्रैफिक अमले ने दोपहर तीन बजे से नरसिंहगढ़ रोड हॉली फैमिली स्कूल के पास चैकिंग अभियान चलाया। शाम 5 बजे तक चली चैकिंग में नरसिंहगढ़-ब्यावरा व भोपाल के बीच चलने वाली यात्री बसों की जांच की गई। सड़क पर पुलिस वालों को देख दुपहिया वाहन चालक जुर्माने के डर से जान जोखिम में डालकर वाहनों को बीच सड़क पर भी मोड़ते हुए दिखे।

फोन से बात करा कर खास लोग छुड़ाते रहे वाहन

चैकिंग अभियान में एयरपोर्ट से आवाजाही करने वाले कुछ खास लोग फोन से बात कराकर चैकिंग अमले से वाहन छुड़ाते रहे। किसी ने पुलिस अधिकारियों से को फोन कराए तो कई लोगों ने विधायक, मंत्री से जान पहचान निकालकर वाहनों को छुड़ा लिया।

वॉल्वो व लो फ्लोर बसों की जा रही मेहरबानी

आरटीओ का उड़दस्ता और ट्रैफिक पुलिस वॉल्वो व लो फ्लोर बसों पर मेहरबानी कर रहा है। चैकिंग अभियान के दौरान इनकी जांच नहीं की जा रही है। तेज रफ्तार से निकलने वाली वॉल्वो बसों के न तो स्पीड गवर्नर जांचे जाते और न ही पीयूसी की जांच करते हैं। इंदौर रूट पर चलने वाली बीसीएलएल की वॉल्वो, वर्मा ट्रेवल्स की बसों की कोई चैकिंग नहीं हो रही है। लो फ्लोर बसों को देखकर चैकिंग अमले में मौजूद जवान मुंह मोड़ लेते हैं।

शुक्रवार को हुई वाहन चैकिंग की स्थिति

- 105 वाहनों की जांच।

- 22 पर लगाया 1 लाख 11 हजार का जुर्माना।

- 7 वाहनों को जब्त किया गया।

1 से 6 जनवरी तक बसों के आकड़े

-700 स्कूल व यात्री बसों सहित चार पहिया वाहनों की जांच हुई।

-150 वाहनों पर हुई जुर्माने की कार्रवाई।

-9 लाख के करीब वसूला राजस्व

जुर्माने से बचने के लिए ये करें

-वाहन चालक रजिस्ट्रेशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, बीमा की छायाप्रति साथ लेकर चलें। -हेलमेट पहनकर दुपहिया वाहन चलाएं।

-चार पहिया वाहन चालक सीट बेल्ट बांधने के साथ शहर क्षेत्र में 40 की स्पीड में वाहन चालाएं।

-बस चालक मोटर व्हीकल एक्ट का पालन करें। ड्राइवर व कंडक्टर खाकी ड्रेस पहनें, ताकि उनकी पहचान अलग से हो सकें।

-कारों के ग्लास पर ब्लैक फिल्म नहीं लगवाएं, जो प्रतिबंधित है।

-नंबर प्लेट पर साफ-साफ नंबर लिखाएं कराएं। स्टाइलिश व किसी का नाम न लिखें, ताकि दुर्घटना होने पर नंबर के आधार के पर संबंधित व्यक्ति का पता लगाया जा सके।

-एक साथ वॉल्वो व लो फ्लोर बसों की चैकिंग करना मुश्किल

एक साथ वॉल्वो व लो फ्लोर बसों की चैकिंग करना मुश्किल है। लो फ्लोर या वॉल्वो को रोकते हैं तो जाम की स्थिति बन जाती है। अभियान के कुछ बसों की जांच करके देखी, सभी के कागजात सही मिले हैं। गिरजेश वर्मा, आरटीआई

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags