भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि), MP Weather Update। अरब सागर में वर्तमान में एक चक्रवाती तूफान बना हुआ है। हालांकि यह तूफान केरल, कर्नाटक के समानांतर आगे सोमालिया की तरफ बढ़ रहा है। इस तूफान से मध्‍य प्रदेश में मौसम के मिजाज में कोई विशेष फर्क पड़ने की संभावना कम ही है, लेकिन बंगाल की खाड़ी से 25 नवंबर को एक चक्रवाती तूफान आगे बढ़कर तमिलनाडु के तट से टकराएगा। इसके प्रभाव से प्रदेश में कई स्थानों पर बादल छाएंगे और पूर्वी मप्र में कई स्थानों पर विशेषकर जबलपुर संभाग में 25-26 नवंबर को बारिश हो सकती है। उधर पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से हवाओं का रुख फिर बदलने लगा है। इस वजह से अब रात के तापमान में भी इजाफा होने लगा है। इससे फिलहाल ठंड से कुछ राहत मिलने की संभावना है।

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि अरब सागर में उठा तूफान सोमालिया कोस्ट की तरफ बढ़ गया है। इससे मप्र के मौसम में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। उधर वर्तमान में बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसके 25 नवंबर को चक्रवाती तूफान में परिवर्तित होकर तमिलनाडु के तट पर टकराने की संभावना है। इसका असर मप्र पर पड़ेगा। बड़े पैमाने पर नमी आने के कारण बादल छाने लगेंगे। साथ ही पूर्वी मप्र में विशेषकर जबलपुर संभाग में 25-26 नवंबर को बरसात भी हो सकती है।

बढ़ने लगा रात का तापमान

शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक प्रेरित चक्रवात दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर बना हुआ है। इसके अलावा एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान से उत्तर भारत की तरफ बढ़ रहा है। इन दो सिस्टम के असर से हवाओं का रुख फिर बदलकर दक्षिण-पूर्वी होने लगा है। वातावरण में नमी बढ़ने के कारण धीरे-धीरे रात के तापमान में इजाफा होने लगा है। इससे रात के समय ठंड से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। हालांकि 28 नवबंर के बाद एक बार फिर सर्द हवाओं का दखल बढ़ने लगेगा। इससे प्रदेश में कड़ाके की ठंड का दौर शुरू हो जाएगा।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस