भोपाल। ऑल इंडिया हिंदू पर्सनल लॉ बोर्ड के राष्ट्रीय सचिव व राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास के प्रवक्ता आचार्य देव मुरारी बापू कांग्रेस सरकार द्वारा वादा पूरा नहीं करने से नाराज है। उन्होंने उचित सम्मान नहीं मिलने पर आत्महत्या करने की चेतावनी दी है।

बापू ने कहा कि बीते साल हुए विधानसभा चुनाव में मप्र के एक दर्जन जिलों में उन्होंने कांग्रेस के पक्ष में कार्य किया था। चुनाव पूर्व कांग्रेस ने कुछ वादे किए थे जो सरकार बनने के आठ माह बाद भी पूरे नहीं किए। मेरी मेहनत व कार्य को देखकर शंकराचार्य के शिष्य सुबोधानंद व कम्प्यूटर बाबा की तरह सम्मान दिया जाना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

एक सप्ताह पूर्व 12 अगस्त को मुख्यमंत्री कमलनाथ से वार्ता हुई थी। इसमें मेरे द्वारा गौ संवर्धन बोर्ड का चेयरमैन पद की मांग की थी। ताकि मैं गौ सेवा कर सकूं। लेकिन यह मांग भी अनसुनी कर दी गई। बता दें कि मथूरा (उप्र) के रहने वाले देव मुरारी बापू की मप्र के कई जिलों में अच्छी पकड़ है।

जान का खतरा, मांगी सुरक्षा

देव मुरारी बापू ने कहा कि मप्र विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए कार्य करने पर भाजपा के कार्यकर्ता बैर रखते हैं। मुझे जान से मारने तक की धमकी मिल चुकी है। मथुरा के जिलाधिकारी और उप्र के मुख्यमंत्री को सुरक्षा के लिए एक पत्र भी लिखा पर सुरक्षा नहीं मिल सकी। जबकि उप्र में भाजपा समर्थित संतों को एक-एक गनर मिले हुए हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी मांग की है कि मुझे सुरक्षा प्रदान की जाए।