भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। नेशनल कॉउंसिल फॉर टीचर्स एजुकेशन एनसीटीई के कॉलेजों में संचालित होने वाले बीएड समेत शिक्षा के सभी पाठ्यक्रमों से विद्यार्थियों ने इस साल से दूरी बनानी शुरू कर दी है। वजह है इसमें रोजगार के अवसर नहीं मिलना। राज्य शासन प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) से शिक्षकों की पात्रता परीक्षा तो आयोजित कर ले रही है, लेकिन इन पात्र शिक्षकों को नियुक्ति नहीं दे पा रही है। इस साल उच्च शिक्षा विभाग बीएड शिक्षा के अन्य पाठ्यक्रमों के लिए दो दौर की कॉउंसिलिंग प्रक्रिया आयोजित करा चुका है, लेकिन मध्य प्रदेश के कॉलेजों में कुल मौजूद बीएड पाठ्यक्रमों की सीटों में से 25 फीसद सीटें भी नहीं भरा सकी हैं। अब सोमवार से तीसरे दौर की कॉउंसिलिंग प्रक्रिया शुरू हो गई है। विद्यार्थी 19 सितंबर तक कॉलेजों में प्रवेश के लिए पंजीयन करा सकेंगे, जबकि दस्तावेजों का सत्यापन 20 सितंबर तक हो सकेगा। कॉलेज का आवंटन 26 सितंबर को किया जाएगा। 30 सितंबर तक आवंटित कॉलेजों में प्रवेश लिया जा सकेगा।

25 हजार विद्यार्थियों को कॉलेज आवंटित, 11 हजार ने लिया प्रवेश

मध्य प्रदेश के कॉलेजों में बीएड पाठ्यक्रम की पचास हजार सीटें हैं। पिछले साल तक शत प्रतिशत सीटें भर जाती थीं, लेकिन बीएड की डिग्री लेने के बावजूद रोजगार नहीं मिलने के कारण इनमें प्रवेश की स्थिति बेहद खराब है। इस साल विभाग ने दूसरे दौर की कॉउंसिलिंग तक 25 हजार विद्यार्थियों को कॉलेज आवंटित कर चुका है, लेकिन अब तक प्रवेश सिर्फ 11 हजार सीटों पर ही हुए हैं। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा पिछले साल आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा में तीनों वर्ग मिलाकर आठ लाख उम्मीदवार पात्रता परीक्षा में सफल हुए थे। इनकी भर्ती के लिए सरकार अब तक इंटरव्यू आयोजित नहीं करा सकी है।

इसके अलावा इनके लिए पदों की संख्या भी सिर्फ 20 हजार है। ऐसे में शेष पात्र शिक्षकों को सरकारी विद्यालयों में रोजगार नहीं मिल सकेगा। शिक्षक बेरोजगार मंच के रंजीत सिंह गौर का कहना है कि बीएड समेत शिक्षा के पाठ्यक्रमों से विद्यार्थियों की दूरी की वजह यही है कि जो डिग्री ले चुके हैं, उन्हें ही रोजगार नहीं मिल रहा है तो नए को कैसे मिलेगा। सरकार से बार बार मांग करने के बावजूद भर्ती नहीं की जा रही है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020