भोपाल (नवदुनिया रिपोर्टर)। तनचोई जामावर वैवाहिक साड़ी में डबल वीविंग की जाती है, जिससे पीछे की तरफ साड़ी में धागे नहीं निकलते। पूरी साड़ी बुनने के बाद बॉर्डर की बुनाई की जाती है। साड़ी में एंटी जरी वर्क किया जाता है। इस पूरी प्रक्रिया में दो माह का समय लग जाता है। इस प्रकार एक साड़ी दो माह में तैयार होती है। इसकी कीमत 12 हजार रुपये तक है। यह साड़ी महिलाओं को खासतौर पर लुभाती है। यह कहना है बनारस के बुनकर इरफान शेख का। इरफान बिट्टन मार्केट स्थित कम्युनिटी हॉल में चल रही सिल्क इंडिया प्रदर्शनी में अपनी कारीगरी का संग्रह लेकर आए हुए हैं। वैवाहिक सीजन को देखते हुए हैंडलूम सिल्क साड़ियों की व्यापक श्रृंखला एक ही स्थान पर उपलब्ध कराने के लिए रविशंकर कम्युनिटी हॉल में सिल्क इंडिया प्रदर्शनी आयोजित की जा रही है। प्रदर्शनी में देश के कोने-कोने से लोकप्रिय हैंडमेड साड़ियां एवं ड्रेस मटेरियल पेश किए गए हैं। ओडिशा आर्ट एंड क्राफ्ट द्वारा आयोजित प्रदर्शनी सुबह 11 बजे से रात आठ बजे तक देखी जा सकती है।

सिल्वर जरी की साड़ी : बनारस के ही बुनकर सलीम औरगेंजा सिल्क की वैवाहिक साड़ियां लेकर आए हैं। इन साड़ियों पर सिल्वर जरी का उपयोग करते हुए कड़ियल वर्क किया गया है, जो बेहद खूबसूरत है। डबल वीविंग वाली इस साड़ी को बनाने में एक महीने का समय लगता है। इस साड़ी की कीमत दस हजार रुपए है।

कश्मीर का वूलन : प्रदर्शनी में कश्मीर के गर्म कपड़े खास हैं। सुजैद यहां कश्मीर की जैकेट लेकर आए हैं, जो याक वूलन से बनती है। इसी प्रकार श्रीनगर के सरताज अहमद पश्मीना शॉल, फर की उर्तुगल टोपी, कोट और जैकेट लेकर आएं हैं, जो अधिक ठंडे इलाकों में रहने वालों के लिए बहुत उपयोगी है। यहां राजस्थानी रजाई और कंबल के स्टॉल भी लगे हैं।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस