मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दो लाख 30 हजार से ज्यादा महिलाओं के खातों में 23 करोड़ रुपये किए अंतरित

भोपाल (राज्य ब्यूरो)। विशेष पिछड़ी जनजाति सहरिया, बैगा और भारिया जनजाति की महिलाओं को पोषण आहार मिले, इसके लिए हमने आहार अनुदान देना शुरू किया था। कांग्रेस की सरकार ने इसे बंद कर दिया। भाजपा सरकार ने फिर शुरुआत की है और हर माह एक हजार रुपये सीधे खाते में जमा किए जाएंगे ताकि आपकी जिंदगी को खुशहाल बना सकें।

यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को सहरिया, बैगा और भारिया जनजाति की महिलाओं से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद में कही। इस दौरान दो लाख 30 हजार 969 महिलाओं के खातों में 23 करोड़ नौ लाख रुपये से अधिक सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित किए गए।

मुख्यमंत्री ने शहडोल, छिंदवाड़ा और दतिया जिले की हितग्राहियों से संवाद किया और योजना के बारे में पूछा। अधिकांश महिलाओं ने बताया कि आहार अनुदान के साथ उन्हें अन्य योजनाओं का भी लाभ मिल रहा है। इस राशि का उपयोग वे सब्जी, फल, दूध आदि लेने में करती हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम आपके विकास और कल्याण के काम में कोई कसर नहीं छोडेंगे। उन्होंने महिलाओं से अपील की कि वे मास्क जरूर लगाएं और आवश्यक दूरी का पालन करें। कोरोना बीमारी तो चलेगी। हमें इसके साथ ही चलते रहना पड़ेगा इसलिए इस बार सब-कुछ बंद नहीं किया है। बंद करने से रोजगार छिन जाता है इसलिए आर्थिक गतिविधियां चलती रहें और कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण भी हो जाए, इसके सबको साथ देना होगा।

CM Madhya Pradesh

उन्‍होंने कहा कि सबसे पहले यह तय कर लें कि मास्क अनिवार्य रूप से लगाना है। शारीरिक दूरी बनाना है और टीका लगवाना है। वैसे प्रदेश में प्रदेश में 10 करोड़ 82 लाख टीके लग चुके हैं। इसका फायदा यह है कि पहले तो बीमारी नहीं होगी और यदि हो गई तो उसका असर बहुत कम होगा। दूसरी लहर में जो बीमार हुए थे, उन्हें अस्पताल जाना पड़ा क्योंकि तब इतने टीके नहीं लगे थे। तीसरी लहर में अस्पताल जाने की नौबत नहीं आ रही है इसलिए जिन्होंने भी अब तक टीका नहीं लगवाया है, वे जरूर लगवा लें। कार्यक्रम में जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह, प्रमुख सचिव पल्लवी जैन गोविल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local