भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। शहर के बावड़िया कला जिनालय में आचार्य सौरभ सागरजी महाराज के सानिध्य मे मूल नायक भगवान वासु पुज्य स्वामी का अभिषेक व पूजा-अर्चना की। श्री दिगंबर जैन समाज के प्रवक्ता अंशुल जैन ने बताया धर्म सभा के शुभारंभ पर पाठशाला परिवार ने मंगला चरण किया। मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने श्रीफल समर्पित कर आशिर्वाद प्राप्त किया। आचार्य ने प्रवचन में कहा कि दोषों की स्वीकृति के साथ संकल्प के साथ दोषों को दूर करने का नाम प्रतिक्रमण है। जीवन का कल्याण साधनों से नहीं साधना से होगा पर आजकल मनुष्य साधनों के पीछे भाग कर दिमागी उलझन मोल ले रहा है। भौतिक सुख सुविधाओं के कारण मनुष्य के जीवन से शांति बहुत दूर चली गई जिसके जीवन में सुख और शांति है इसका जीवन संतुष्ट है और जो जीवन मे प्राप्त को पर्याप्त मानकर जी रहा है वह सबसे सुखी और सफल इंसान है। इस अवसर पर शशि टोंग्या, राजेंद्र जैन सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।

स्वर्णकार अजमीढ़ देव की मूर्ति क्षतिग्रस्त की, मंत्री को ज्ञापन सौंपा

मप्र स्वर्णकार समाज कल्याण समिति के पदाधिकारियों ने शनिवार को नगरीय विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह से मुलाकात की। स्वर्णकार समाज के प्रदेशाध्यक्ष राजेश वर्मा सोनी ने बताया कि समाज के आराध्य महाराजा अजमीढ़ देव की मूर्ति को आसामाजिक तत्वों ने क्षतिग्रस्त कर दिया था। उनके हाथ की तलवार को भी तोड़ दिए थे। इस बात से स्वर्णकार समाज में भारी रोष व्याप्त है। आसामाजिक तत्वों पर तत्काल कार्रवाई करने एवं मूर्ति को सुरक्षित करने के लिए रेलिंग लगाने एवं चौकीदार नियुक्त किया जाए। मंत्री सिंह ने समाज के लोगों को आश्वासन दिया कि वे तत्काल कार्रवाई कराएंगे। असामाजिक तत्वों को वहां से संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करके हटावाएंगे। इस मौके पर प्रदेश महासचिव ओपी सोनी, प्रदेश महिला अध्यक्ष बंदना माहोर, प्रदेश संगठन मंत्री रामस्वरूप सोनी, प्रदेश युवा महामंत्री अमित सोनी एडवोकेट, आशीष सोनी, मनीष सोनी अन्य प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close