भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। शहर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में लेटलतीफी ही नहीं बल्कि अधूरी प्लानिंग भी भारी पड़ेगी। दरअसल, प्लेटिनम प्लाजा से जवाहर चौक तक बुलेवर्ड स्ट्रीट का निर्माण कार्य किया जा रहा है। यह भदभदा से रंगमहल की ओर आने वाली सड़क को क्रॉस करेगी। सर्वे के मुताबिक यहां प्रतिघंटा पांच हजार पीयूसी (पैसेंजर कार यूनिट) होंगी। ऐसे स्थानों पर इंडियन रोड कांग्रेस (आइआरसी) ने ग्रेंड सेपरेटर बनाने पर जोर दिया है, लेकिन भारी यातायात को नियंत्रित करने के लिए स्‍ट्रक्‍चर डेवलपमेंट पर ध्यान ही नहीं दिया है। लिहाजा यहां न सिर्फ जाम की स्थिति बनेगी, बल्कि क्षेत्र के एक लाख से अधिक लोगों के लिए परेशानी का सबब भी होगी।

मामले पर अर्बन एक्सपर्ट कमल राठी ने बताया कि 45 मीटर चौड़ी सड़कों की क्रॉसिंग (चौराहा या रोटरी) पर ट्रैफिक सिग्नल व्यवस्था सफल साबित नहीं होती। जबकि जवाहर चौक पर बुलेवर्ड स्ट्रीट के जंक्‍शन पर स्मार्ट सिटी सिग्नल की व्यवस्था की प्लानिंग कर रहा है। प्रोजेक्ट में सर्विस रोड को लेकर भी प्लानिंग नहीं की गई है। इससे चारों ओर के रहवासियों के लिए यह बड़ी समस्या का कारण बनेगा।

लेफ्ट टर्न क्लीयर के लिए नहीं की प्लानिंग

जवाहर चौक पर नए क्रॉसिंग जोन को लेकर भी रूपरेखा तैयार नहीं की गई है। नियमों के मुताबिक लेफ्ट टर्न क्लीयर होना चाहिए। फुटओवर ब्रिज के स्थान पर सब-वे बनाया जाए। प्लानिंग में खामियों को देखते हुए वाइस ऑफ इंडिया स्मार्ट सिटी के बोर्ड को पत्र लिखा गया है कि 45 मीटर की सड़कों के साथ एडीबी एरिया की कुल 18 किमी की सड़कों पर फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) के निर्माण के स्थान पर सब-वे का निर्माण का प्रविधान किया जाना चाहिए। इसके पीछे तर्क यह है कि एमपी नगर, कलेक्ट्रेट, आइएसबीटी पर एफओबी का निर्माण कराया गया। अमूमन लोग रोड क्रॉसिंग में इसका उपयोग नहीं करते। इसके उलट न्यू मार्केट में बनाए गए सब-वे का उपयोग क्रॉसिंग के लिए सर्वाधिक किया जाता है।

मेट्रो के बाद स्थिति और खराब होगी

भदभदा पर मेट्रो स्टेशन का निर्माण प्रस्तावित है। मप्र मेट्रो रेल कार्पोरेशन ने यहां हर पांच मिनट में तीन से पांच सौ यात्री की आवाजाही के हिसाब से स्ट्रक्‍चर डेवलमेंट का प्लान तैयार किया है। इसका भार भी जवाहर चौक से रंगमहल की ओर की सड़क के साथ बुलेवर्ड स्ट्रीट के जंक्शन पर पड़ेगा। पीयूसी में वृद्धि होने के कारण स्थिति और खराब होगी।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस