भोपाल (नप्र)।हबीबगंज-बीना के बीच बन रही तीसरी रेल लाइन का फायदा फिलहाल यात्री ट्रेनों को नहीं मिल पा रहा है। शताब्दी एक्सप्रेस को इस लाइन में चलाना तो और भी मुश्किल है। पूरी लाइन के बनने के बाद स्पीड ट्रायल होगा, इसके बाद ही शताब्दी इस लाइन में चल सकेगी। वजह यह कि अभी तक शुरू किए गए रेलखण्ड (सेक्शन) टुकड़े-टुकड़े में हैं।

शताब्दी एक्सप्रेस की बीना-भोपाल के बीच पुरानी लाइनों में अधिकतम रफ्तार 120 किमी प्रति घंटा है। तीसरी लाइन में फिलहाल 100 से 110 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने की अनुमति रेल संरक्षा आयुक्त ने दी है। ऐसे में शताब्दी को तीसरी लाइन में चलाने से नुकसान है। रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि तीसरी लाइन का निर्माण 160 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने के लिए किया गया है। शताब्दी को इस लाइन में चलाने के लिए स्पीड ट्रायल करना होगा। 130 किमी प्रति घंटे या इससे ज्यादा रफ्तार से ट्रेन चलाने की रेल संरक्षा आयुक्त की मंजूरी मिली तभी तीसरी लाइन में शताब्दी चलाई जाएगी।

अभी सिर्फ मालगाड़ियां चल रहीं

मालगाड़ियों, वीआईपी ट्रेनों (राजधानी, शताब्दी, दूरंतो) और लंबी दूरी की ट्रेनों को रफ्तार देने के लिए तीसरी लाइन बनाई जा रही है। इसकी लंबाई 144 किमी है। पांच साल में कुल 45 किमी के तीन सेक्शन चालू हो सके हैं। लेकिन इन सेक्शनों में सिर्फ मालगाड़ियां ही चल रही हैं।

क्रास ओवर के चलते और कम हो जाएगी रफ्तार

रेलवे के अधिकारियों ने बताया तीसरी लाइन में जगह-जगह क्रास ओवर बने हुए हैं। ट्रेन को एक से दूसरी लाइन में ले जाने के लिए इनका उपयोग किया जाता है। क्रास ओवर में गाड़ियों को अधिकतम 15 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चलाने की अनुमति होती है। इस कारण तीसरी लाइन के मौजूदा सेक्शनों में ट्रेन चलाने से स्पीड और कम हो जाएगी।

अभी तक शुरू हुए सेक्शन

-पबई-बरेठ सेक्शन 18 किमी

- पबई-गुलाबगंज 11 किमी

- सूखी-दीवानगंज 16 किमी

अब शुरू होंगे ये सेक्शन

बीना-गुलाबगंज :मार्च तक

सलामतपुर-निशातपुराः जून तक

विदिशा से सलामतपुरः अगले साल तक

हबीबगंज से भोपाल : अगले साल तक

इनका कहना है

शताब्दी को अभी इस लाइन में नहीं चलाया जाएगा। पूरी लाइन बनने के बाद शताब्दी के डिब्बों के साथ स्पीड ट्रायल होगा। 130 किमी प्रतिघंटे या इस ज्यादा रफ्तार से गाड़ी चलाने की अनुमति रेल संरक्षा आयुक्त से मिली तभी शताब्दी इस लाइन में चलेगी।

राजीव चौधरी, मंडल रेल प्रबंधक, भोपाल

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags