Today In Bhopal: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। देश-प्रदेश के साथ शहर में अब लगभग तमाम गतिविधियां पुन: शुरू हो चुकी हैं। विभिन्‍न जगहों पर नए-नए आयोजन हो रहे हैं और लोग घूमने के लिए बाहर निकल रहे हैं। किंतु आप यह भी न भूलें कि कोरोना संक्रमण का खतरा कायम है। ऐसे में हमारी यही सलाह है कि घर से बाहर निकलते समय मास्क का उपयोग अवश्‍य करें और सुरक्षित शारीरिक दूरी बनाकर चलें। आप कहीं भी जाएं, कोरोना गाइडलाइन का पूर्णत: पालन करें। यहां हम आपको गुरुवार 14 जनवरी को शहर में होने वाले कुछ कार्यक्रमों की जानकारी दे रहे हैं। इससे आपको अपनी दिन की कार्ययोजना बनाने में आसानी हो सकती है।

- मध्यप्रदेश शासन, संस्कृति विभाग द्वारा मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय में आयोजित बहुविध कलानुशासनों की गतिविधियों पर एकाग्र गमक श्रृंखला के अंतर्गत गुरुवार को शाम साढ़े पांच बजे से आदिवासी लोककला एवं बोली विकास अकादमी द्वारा जनजातीय संग्रहालय में ज्ञानसिंह शाक्य और साथी, भिंड द्वारा लांगुरिया गायन एवं राजेंद्र चौबे एवं साथी, सागर द्वारा सैरा लोकनृत्य की प्रस्तुति होगी।

- शौर्य स्मारक में शाम छह बजे सैन्य फिल्म का प्रदर्शन किया जाएगा।

पतंगोत्सव : होशंगाबाद रोड स्थित शालीमार फोर्टलेजा कैंपस में मकर संक्रांति के अवसर पर पतंगोत्सव का आयोजन किया जायेगा। दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक आयोजित होने वाले इस आयोजन में कैंपस को रंग-बिरंगी पंतंगों से डेकोरेट किया जाएगा। वहीं पतंगोत्सव में तिल-गुड़ के लड्डू के साथ स्वादिष्ट गजक का भी आनंद इस उत्सव में शामिल होने वाले लोग उठा सकेंगे।

आभूषण मेला : मप्र हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम की ओर से 17 जनवरी तक गौहर महल में आयोजित अद्भुत आभूषण बाजार दोपहर एक बजे से रात नौ बजे तक देखा जा सकता है। यहां प्रदेशभर से आए शिल्पकार अपने हुनर का प्रदर्शन कर रहे हैं। सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन शाम 6:30 बजे से होगा।

चित्र प्रदर्शनी : भारत भवन में मप्र के दृश्यों पर आधारित जलरंग कला प्रदर्शनी को दोपहर दो बजे से देखा जा सकता है।

- मध्य प्रदेश जनजातीय संग्रहालय की लिखंदरा दीर्घा में भील समुदाय की युवा चित्रकार कामता ताहेड़ के चित्रों की प्रदर्शनी 'शलाका 10" सुबह 11 बजे से देखी जा सकती है। आदिवासी कला केंद्र में गोंड चित्र प्रदर्शनी भी इसी दौरान देखी जा सकती है।

माह का प्रादर्श: इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय में प्रत्यक्ष माह के प्रादर्श समृद्धि का प्रतीक 'परा" को सुबह 11 बजे से देखा जा सकता है।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस