भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के प्रभात चौराहा से सुभाष नगर विश्रामघाट (विधायक आवास) की ओर लगने वाले जाम से जल्द निजात मिलेगी। इस सड़क से निकलने वाले वाहन सुभाष नगर आरओबी से होते हुए विधायक आवास रोड (बीएचईएल की ओर) निकलेंगे। दरअसल, पीडब्ल्यूडी ने सुभाष नगर रेलवे ओवर ब्रिज (आरओबी) से थर्ड लेग (तीसरा रास्ता) बनाने का निर्णय लिया है। यह करीब 100 मीटर लंबा होगा। लिहाजा ब्रिज के नीचे रचना नगर रोड, अशोका गार्डन जाने वाली रोड पर यातायात का भार कम होगा।

पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने इसका निरीक्षण कर प्रारंभिक तैयारी भी शुरू कर दी है। थर्ड लेग के निर्माण को लेकर चिकित्सा शिक्षा मंत्री व क्षेत्रीय विधायक विश्वास सारंग ने निर्देश दिए थे। अधिकारियों ने बताया कि ब्रिज में 45 डिग्री का कर्व है। लिहाजा आसानी से थर्ड लेग का निर्माण किया जा सकता है। इसके निर्माण के बाद एक ओर का यातायात वन-वे हो जाएगा। पीडब्ल्यूडी ने थर्ड लेग के लिए डिजाइन बनाने का काम शुरू कर दिया है। इसके बाद टेंडर संबंधित प्रक्रिया शुरू की जाएगी। निर्माण को लेकर पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता संजय खांडे व मंत्री सारंग के बीच बैठक भी हो चुकी है।

क्या है थर्ड लेग

ब्रिज से होते हुए किसी अन्य स्थान के लिए जहां एक लेन का निर्माण किया जाता है, उसे थर्ड लेग कहते हैं। यह सिंगल या टू लेन हो सकता है। इसका फायदा यह होता है कि ब्रिज के अंतिम व प्रारंभिक प्वाइंट के बीच से अन्य स्थान के लिए रास्ता बनाया जाता है। यह भी ब्रिज के समान ही होता है। शहर के हबीबगंज रेलवे स्टेशन के पास नगर निगम द्वारा वीर सावरकर सेतु में गणेश मंदिर से होशंगाबाद रोड की ओर जाते हुए जो रास्ता एम्स की ओर निकला है, वह थर्ड लेग कहलाता है।

बीएचईएल की ओर भारी यातायात का दबाव होगा कम

प्रभात चौराहा की ओर से बीएचईएल व गोविंदपुरा जाने के लिए वाहनों का दबाव अत्यधिक होता है। सुभाष नगर आरओबी में थर्ड लेग निर्माण के बाद प्रतिघंटा करीब तीन हजार वाहन सीधे ब्रिज से होते हुए रचना नगर रोड पर निकल जाएंगे। यहां सुभाष नगर विश्रामघाट के सामने से पिपलानी रोड की ओर जाने वाली रोड की सूरत भी बदली जाएगी।

दो लाख लोगों को होगा फायदा

थर्ड लेग के निर्माण के बाद आसपास के क्षेत्रों के करीब दो लाख लोगों को फायदा होगा। इसमें रचना नगर, गौतम नगर, बीएचईएल क्वार्ट्स, गोविंदपुरा, पिपलानी, एमपी नगर व सिक्योरिटी रोड की ओर जाने वालों को सहूलियत होगी। सुभाष नगर के नीचे की सड़क से भी यातायात भार कम हो जाएगा।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस