भोपाल। दोस्तों के बीच दबंगई दिखाने टिकटॉक पर पिस्टल के साथ वीडियो शेयर करना युवक को महंगा पड़ा। वीडियो वायरल होकर क्राइम ब्रांच तक जा पहुंचा। पुलिस पूछताछ में पता चला कि युवक अवैध हथियारों की तस्करी से जुड़ा हुआ है। पुलिस ने उसके दो और साथियों को गिरफ्तार कर उनके पास से पांच पिस्टल और चार कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि गिरोह अभी तक कितनी पिस्टल बेच चुका है।

डीआईजी इरशाद वली के मुताबिक क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि सलमान नाम का युवक हर समय अपने पास पिस्टल रखता है। साथ ही दोस्तों के बीच दबंगई दिखाने के लिए उसने टिकटॉक पर पिस्टल के साथ अपना वीडियो भी शेयर किया है। जानकारी की तस्दीक होने पर पुलिस ने कोहेफिजा निवासी सलमान (25) की निगरानी बढ़ा दी। शनिवार रात को मुखबिर से पता चला कि सलमान अपने दो साथियों के साथ जहांगीराबाद स्थित पशु चिकित्सालय के पास किसी को पिस्टल बेचने पहुंचा है।

क्राइम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी कर तीनों को हिरासत में ले लिया। सलमान के साथियों की पहचान बुधवारा निवासी इमरान मेनन (24) और पंचशील नगर निवासी नीलेश(26) के रूप में हुई। तलाशी में तीनों के पास से पांच पिस्टल और चार कारतूस बरामद हुए।

दो साल पहले खरीदे थे हथियार

एएसपी क्राइम ब्रांच निश्चल झारिया ने बताया कि पूछताछ में सलमान ने बताया कि यह पिस्टल उसने कासिम नाम के युवक से 2 साल पहले खरीदी थीं। कुछ माह पहले कासिम की सड़क हादसे में मौत हो गई। इसके बाद उसने पिस्टल ठिकाने लगाने के लिए ग्राहक तलाशना शुरू कर दिया। एएसपी के मुताबिक सलमान और इमरान का आपराधिक रिकार्ड नहीं है, लेकिन नीलेश के खिलाफ कई केस दर्ज हैं।