भोपाल/बैतूल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के दौरान इंटरनेट मीडिया पर लगातार भड़काऊ पोस्ट डालना पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर और कुछ पत्रकारों को महंगा साबित हुआ। शिकायत मिलने पर राजधानी के मिसरोद थाने में आधा दर्जन लोगों के खिलाफ धारा 153 (ए), 505 के तहत केस दर्ज कर लिया गया। बैतूल के मुलताई थाने में भी शशि थरूर समेत 8 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है।

मिसरोद थाना पुलिस के मुताबिक किसान संजय रघुवंशी ने शिकायत दर्ज कराई थी। उसमें बताया गया कि दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के दौरान इंटरनेट मीडिया पर विभिन्न न्यूज चैनलों में पत्रकारों ने भड़काऊ टिप्पणी की थी। इसके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री ने भी भड़काऊ बयान दिए थे। इस तरह का कृत्य देश का सद्भाव बिगाड़ने वाला है। इससे दो समुदायों के बीच मतभेद पैदा होने की आशंका बढ़ी है। अत: इस तरह के लोगों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाए। जांच के बाद पुलिस ने गुरुवार रात पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर, पत्रकार राजदीप सरदेसाई, मृणाल पांडे, जफर आगा, परेशनाथ, अनंत नाथ, के जोस आदि के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

ट्रैक्टर पलटने की घटना से किसान की मौत पर भड़काया

मिसरोद थाने में दर्ज की गई एफआइआर में लिखा है कि किसानों के ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा में ट्रैक्टर पलटने से किसान की मौत हुई थी। इसमें कुछ वरिष्ठ पत्रकारों ने पुलिस की गोली से किसान की मौत होने की खबर चलाकर भड़ाकाने का काम किया। जबकि बाद में दिल्ली पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज जारी कर मामले की सच्चाई सामने ला दी।

मुलताई थाने में भी मामला दर्ज

उधर, बैतूल के मुलताई थाने में भी इसी मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि समेत सहित 8 लोगों के खिलाफ गुरुवार रात मामला दर्ज किया है। मुलताई टीआइ सुरेश सोलंकी ने बताया कि मुलताई के आंबेडकर वार्ड निवासी बालमुकुंद पिता मुन्नालाल डोंगरे ने किसान आंदोलन के दौरान गलत, भ्रामक जानकारी सोशल मीडिया पर देकर हिंसा भड़काने का आरोप लगाते हुए शिकायती आवेदन दिया था। इसी आधार पर शशि थरूर, राजदीप सरदेसाई, मृणाल पांडे, जफर आगा, परेश नाथ, अनंत नाथ, विनोद के जोश एवं अन्य सभी निवासी दिल्ली के खिलाफ धारा 153 ए, 153 बी, 295 ए, 298, 504, 506, 505(2), 124 ए, 120 बी एवं 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close