भोपाल। (राज्य ब्यूरो)। पदोन्नति का रास्ता निकालने के लिए नए नियम को लेकर गुरुवार को फिर मंत्री समूह ने कर्मचारी संगठनों के साथ बैठक की। इसमें बैकलॉग के पदों को भरने को लेकर अनुसूचित जाति-जनजाति अधिकारी-कर्मचारी संघ (अजाक्स) और सामान्य, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक अधिकारी-कर्मचारी संस्था (सपाक्स) में दोराय सामने आए।

अजाक्स ने जहां पहले बैकलॉक पदों को भरने की बात रखी तो सपाक्स की ओर से तर्क दिया गया कि सभी रिक्तियों में नियम लागू किए जाएं। उधर, मंत्री समूह ने तय किया है कि अब समूह के सभी सदस्य मिलकर बैठक करके निर्णय करेंगे।

गृहमंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा की अध्यक्षता में हुई बैठक में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा प्रस्तावित किए गए पदोन्‍नति नियम पर चर्चा हुई। अजाक्स ने जहां फिर अनारक्षित पदों पर मेरिट और वरिष्ठता का मुद्दा उठाया तो सपाक्स ने आपत्ति दोहराई। पदोन्नति में क्रीमीलेयर की बात भी उठी पर बताया गया कि यह प्रविधान पदोन्नति में लागू नहीं होता है। विभाग की ओर से नई रिक्तियों में नियम लागू करने की बात रखी गई तो अजाक्स के महासचिव एसएल सूर्यवंशी ने कहा कि पहले पूर्व की रिक्तियों को भरा जाना चाहिए। यह व्यवस्था भी रही है।

इस पर सपाक्स के संस्थापक सदस्य अजय जैन ने कहा कि सभी रिक्तियों में एक जैसा प्रविधान लागू होना चाहिए। दोनों पक्षों में कुछ मुद्दों पर अलग-अलग राय रही। करीब एक घंटे चली बैठक के बाद डॉ.मिश्रा ने कहा कि दोनों पक्षों को दो बार सुना जा चुका है। पदोन्नति नियम 2002 और प्रस्तावित नवीन नियमों पर विधिसंगत तरीके से चर्चा की गई। अब मंत्री समूह के सभी सदस्य पदोन्नति दिए जाने के संबंध बैठक करके निर्णय करेंगे। इस दौरान अपर मुख्य सचिव विनोद कुमार, जेएन कंसोटिया सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local