भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। बीते चार-पांच दिनों से राजधानी और आसपास के इलाकों में हो रही झमाझम से अंचल के नदी-नाले उफान पर हैं। राजधानी में भी तमाम जलाशय पानी से लबालब हैं। शुक्रवार को जलस्‍तर बढ़ने से कलियासोत डैम के दो गेट खोल दिए गए। पानी का प्रवाह तेज होने से डैम के पास मछली पकड़ने पहुंचे दो युवक फंस गए। सूचना मिलने पर नगर निगम की टीम मौके पर पहुंची और दोनों को सुरक्षित वहां से निकाला।

इस दौरान करीब पौने घंटे तक पानी के तेज प्रवाह के बीच एक टीले पर अटके रहे। दोनों वहां मछली पकड़ने पहुंचे थे, तभी नदी का जलस्तर बढ़ गया। बता दें कि गुरुवार को भी एक युवक इसी तरह पानी के तेज बहाव के बीच फंस गया था, जिसे रेस्क्यू कर निकाला गया था।

फायर स्टेशन कोलार के प्रभारी पंकज खरे ने बताया कि शुक्रवार सुबह 10 बजे सूचना मिली थी कि 13 शटर के नीचे पानी के बीचोंबीच दो युवक फंस गए हैं। इससे मौके पर टीम सहित पहुंचकर दोनों को रस्सी के सहारे रेस्क्यू कर पानी से बाहर निकाला। जिन्होंने पूछताछ में अपने नाम बंजारी कोलार निवासी राजकुमार, बुद्धराम के रूप में बताए हैं। वह यहां मछली पकड़ने आए हुए थे, इसी दौरान अचानक जलस्तर बढ़ गया। इससे वह बीच पानी में फंस गए थे। उन्होंने बचाव के लिए आवाज लगाई तो वहां आसपास के लोगों ने नगर निगम को सूचना दी। बता दें कि गुरुवार को युवक के फंसने के बाद भी पुलिस, प्रशासन यहां सुरक्षा के इंतजाम नहीं कर रहा है और न ही किसी तरह की सख्ती बरत रहा है। इस वजह से बड़ी संख्या में लोग बेरोकटोक कलियासोत डैम में मछली पकड़ने पहुंच रहे हैं। जबकि जिला प्रशासन ने जलाशयों से मछली पकड़ने पर रोक लगा रखी है।

Posted By: Ravindra Soni

Mp
Mp