भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। आजादी का जश्न 26 जनवरी को सबने मनाया है। यही जश्न न केवल भोपाल से सटे बिजली कंपनी के बैरागढ़ चीचली एचटी सब स्टेशन के अधिकारी कर्मचारियों ने मनाया बल्कि इस मौके पर कोरोना संक्रमण से आजादी के लिए मास्क नहीं लगाने वालों को दफ्तर में प्रवेश न देने की नई शुरूआत भी कर दी है। आजादी के जश्न के बीच सामूहिक निर्णय लिया गया कि मास्क लगाएंगे। एक ही मास्क को बार—बार नहीं पहनेंगे। दूसरों को भी मास्क लगाने की समझाइश देंगे। एक छोटे से सब स्टेशन की इस मुहिम ने बिजली कंपनी के सभी कार्यालयों के अधिकारी, कर्मचारियों को और सजग कर दिया है। सभी जगह मास्क के उपयोग को गंभीरता से लिया जाने लगा है। उपभोक्ताओं को भी समझाइश दी जा रही है कि वे मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से करें।

फिलहाल भोपाल में कोरोना के रोजाना दो हजार से अधिक मरीज मिल रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कई लोग सर्दी, जुकाम, बुखार जैसे लक्षणों से जूझ रहे हैं। ऐसे में कोरोना पर नियंत्रण के लिए प्रशासन जुटा हुआ है। मास्क लगाकर रखने की सख्ती की जा रही है। टीकाकरण को बढ़ावा दिया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की टीम 100 फीसद टीकाकरण के प्रयास में जुटी है। इन चुनौतियों के बीच बिजली सब स्टेशन का यह निर्णय कई मायनों में अहम है।

सब स्टेशन के प्रभारी मनीष श्रीवास्तव का कहना है कि कोरोना से निपटना हम सबकी जिम्मेदारी है काम भले अलग—अलग हो सकते हैं। इन्हीं जिम्मेदारियों को शुरू से निभाते आ रहे हैं। उपभोक्ताओं को चौबीस घंटे बिजली मिलती रहे, कोई व्यवधान पैदा न हो, इसकी जवाबदारी हमारी है। यह जिम्मेदारी तभी निभा पाएंगे, जब सब स्वस्थ्य होंगे। बीमार होने या संक्रमित होने की स्थिति में काम का दबाव बढ़ता है। उपभोक्ताओं को समय पर सेवाएं देने में कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। इन सभी मुश्किलों को देखते हुए 26 जनवरी को सभी ने निर्णय लिया है कि मास्क लगाकर रखेंगे, दूसरों को भी समझाइश देंगे। इसके बावजूद भी कोई बिना मास्क के दफ्तर पहुंचता है तो उसे तब तक प्रवेश नहीं देंगे, जब तक कि संबंधित मास्क न लगा लें।

इन्हें भी आगे आने की जरूरत

— शहर के हाट—बाजारों में भारी भीड़ जुट रही है। खासकर शाम को देर रात तक लगने वाले बाजारों में भीड़ बेकाबू हो रही है। इनमें से 75 फीसद लोग मास्क का उपयोग नहीं कर रहे हैं। दुकानदार तो बिल्कुल भी मास्क नहीं लगा रहे हैं। नगद लेनदेन का चलन कम नहीं हुआ है। इन बाजारों में प्रशासन का भी जोर नहीं चल रहा है। निगम की टीम नदारद रहती है। यहां मास्क लगाने जैसे नियम का तभी पालन हो सकता है जब स्थानीय दुकानदार अव्वल आएंगे।

— बस स्टैंड, बसों के अंदर, रेलवे स्टेशन और चौक—चौराहों पर भी बड़ी संख्या में लोग बिना मास्क के नजर आ रहे हैं। इन सभी सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाने को लेकर जागरुकता जरूरी है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local