भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। सबकी यह चाहत होती है कि हमारी अचछी आमदनी हो। हमारा घरेलू जीवन शांतिपूर्ण और खुशहाल हो। हम जो पैसा कमाकर लाएं, उससे अच्‍छी बचत भी हो। किंतु कई बार ऐसा होता है कि हम खूब मेहनत करते हैं, लेकिन उसके अनुरूप हमारी आमदनी नहीं होती। इसके अलावा अकारण धन भी खर्च हो जाता है। ऐसे में हमारी परेशानी बढ़ जाती है। वास्तुशास्त्र में बताया गया है कि घर में वास्तु दोष होने पर परिवार की तरक्की में रुकावटें आती हैं और धन भी नहीं टिकता। आप वास्तु से जुडी कुछ छोटी-छोटी बातें ध्यान में रखकर जीवन में सुख-समृद्धि और तरक्की प्राप्त कर सकते हैं।

वास्तु शास्त्र के मुताबिक नल अथवा टंकियों से अनावश्यक बहता पानी शुभ नहीं माना जाता है। वास्तु के अनुसार जिस घर में ऐसा होता है, वहां बरकत नहीं होती है। इसके अलावा बेवजह धन खर्च होता है। इसलिए ध्यान रखें कि पानी की बर्बादी न हो।

अपने घर के दरवाजे और खिड़कियां हमेशा साफ रखें क्योंकि घर में आने वाला धन का इससे सीधा संबंध है। ये साफ नहीं होने पर धन प्राप्ति के मार्ग में बाधा पहुंचती है।

घर के पूर्व या फिर उत्तर दिशा के बीच हल्के और कम ऊंचाई के हरे पौधे लगाएं। तुलसी का पौधा लगाना उत्‍तम है। वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा करने से घर में धन-धान्य की कमी नहीं होती है।

यदि आप जीवन में तरक्की पाना चाहते हैं तो अपने घर के उत्तर-पूर्व कोने यानी यानी ईशान कोण को साफ़ रखें। अगर घर के ईशान कोण और उत्तर दिशा में कूड़ा-कचरा या फिर अनावश्यक सामान रखा है तो उसको हटा दें। यहां पर सफेद रंग के क्रिस्टल रखें। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता हे, कहते हैं कि ऐसा करने से धन का मार्ग खुलता है और घर में सुख व शांति का भी वास होता है।

घर में पूजा स्थान का बहुत ध्यान रखना चाहिए यदि आपके घर में दक्षिणी दीवार पर मंदिर बना हुआ है तो ऐसे में आपको धन से संबंधित भयंकर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। घर में पूजा स्थान हमेशा ईशान कोण यानि उत्तर पूर्व में ही बनाएं।

यदि आपके कार्यों में बाधाएं आ रही हैं और तरक्की नहीं हो पा रही है तो घर में से कांटेदार और बोनसाई पौधों को हटा दें। इनकी जगह अपने घर में छोटे हरे पौधे लगाएं। इससे आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा मिलेगा और धन का आगमन होगा।

घर की उत्तर दिशा को कुबेर की दिशा माना गया है, इसलिए तिजोरी को इस तरह से रखें कि अलमारी का दरवाजा उत्तर दिशा की और खुलें इससे धन वृद्धि होती है।

डिसक्लेमर - 'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/विशेषज्ञों/मान्यताओं/ग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close