भोपाल । सब्जी किसानों के सामने अपनी फसल न बेच पाने से उत्पन्न चुनौतियों का सरकार ने संज्ञान लिया है। सरकार सब्जी किसानों के लिए थोक मंडियों में उत्पाद लाने की व्यवस्था करने जा रही है। उनके परिवहन को रोका नहीं जाएगा। मंडी में वह अपनी फसल लेकर आएगा और वहां थोक व्यापारी उपज खरीदेंगे।

थोक व्यापारियों से फुटकर व्यापारी खरीदेगा और वह अपने निश्चित स्थान पर बिक्री करेगा। इसके साथ ही हाट बाजारों की जगह ऐसे स्थान भी चिन्हित किए जाएंगे, जहां किसान अपनी उपज लाकर सीधे बेच सकेगा। इसके लिए उन्हें पास दिया जाएगा।

इस सिलसिले में शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ अधिकारी उच्च स्तरीय बैठक करेंगे और उसके बाद नीतिगत निर्णय होने की उम्मीद है। सुविधा न मिलने से बिचौलियों की चांदी पूर्व कृषि संचालक डॉ. जीएस कौशल ने कहा कि किसान के सामने सबसे बड़ी समस्या यह है कि उसकी फसल सात दिन से ज्यादा टिक नहीं सकती।

टमाटर, पालक, भिंडी सब तैयार है। अगर बाजार में नहीं पहुंची तो किसान को बड़ा नुकसान पहुंचेगा। हालत यह है कि किसान जैसे-तैसे थोक मंडी पहुंच रहा है तो व्यापारी उसकी उपज औने-पौने दाम पर ले रहे हैं और पूरा मजा बिचौलिए मार रहे हैं। आम उपभोक्ता को बहुत महंगी सब्जी मिल रही है।

सरकार ने सब्जी की आपूर्ति करने वालों को पास की व्यवस्था की है, लेकिन आसानी से मिल नहीं रहा है। सरकार तत्काल दो कदम उठाए। किसान को पास उपलब्ध कराकर सुगमता से बाजार पहुंचने दें और दूसरे जो महंगे दाम पर सब्जी बेची जा रही उस पर नियंत्रण लगाए।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket