भोपाल। हवा का रुख गुरुवार रात को उत्तरी हो जाने से पश्चिमी मध्यप्रदेश में Weather in Madhya Pradesh रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई। जिसके चलते भोपाल में न्यूनतम तापमान 16 डिग्रीसे. रिकार्ड हुआ। यह इस सीजन का सबसे कम न्यूनमतम तापमान है। उधर, प्रदेश में सबसे कम न्यूनतम तापमान 11 डिग्रीसे. बैतूल और उमरिया में दर्ज किया गया। मौसम विज्ञानियों ने रविवार रात से प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर रात के तापमान में 2 से 4 डिग्रीसे. तक की गिरावट होने की संभावना जताई है। मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता के मुताबिक वातावरण में लगातार नमी और आसमान पर मध्यम स्तर के बादल बने हुए हैं। इसके अतिरिक्त हवा का रुख परिवर्तनशील है। इस वजह से अभी अपेक्षाकृत ठंड नहीं पड़ रही है। वरिष्ठ मौसम विज्ञानी उदय सरवटे ने बताया कि अफगानिस्तान और उससे लगे पाकिस्तान पर सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के असर से दक्षिण-पश्चिम राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात अभी भी बना हुआ है।

इस सिस्टम के कारण हवाओं का रुख परिवर्तनशील बना हुआ है। हवा की दिशा उत्तरी नहीं होने के कारण ही रात के तापमान में गिरावट नहीं हो रही है। उन्होंने बताया कि गुरुवार रात 11:30 बजे से लेकर शुक्रवार सुबह तक हवा का रुख उत्तरी बना रहने के कारण ही पश्चिमी मप्र में रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

पश्चिमी-विक्षोभ के गुजरते ही गिरेगा रात का पारा

सरवटे के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर भारत में बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। पश्चिमी विक्षोभ रविवार को उत्तर भारत से आगे बढ़ जाएगा। जिसके चलते राजस्थान पर बना सिस्टम भी समाप्त हो जाएगा। इससे हवाओं का रुख उत्तरी होते ही बर्फीली हवाएं राजधानी सहित पूरे प्रदेश में सिहरन बढ़ाने लगेंगी।

Posted By: Hemant Upadhyay