भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि! आज भले ही कई बेटे-बहू नौकरी के चक्कर में घर से दूर रह रहे हैं, कुछ शादी-शुदा जोड़े निजता के लिए अलग रह रहे हैं, लेकिन यह भी सच है कि अभी भी कई युवा संयुक्त परिवार में रहना चाहते हैं। वे जानते हैं कि संयुक्त परिवार में रहने के अपने अलग फायदे हैं। अगर आप भी ऐसे युवती हैं और आपकी शादी किसी संयुक्त परिवार में हो रही है, तो आज हम आपको बता रहे हैं कि कैसे वहां खुद को एडजस्ट करें।

1. घर के बड़ों से बात कर जिम्मेदारी लें

लड़कियों को लगता है कि संयुक्त परिवार यानी ढेर सारा काम। उन्हें यह समझना चाहिए कि संयुक्त परिवार में काम अगर ज्यादा है, तो काम करने वाले भी तो ज्यादा हैं। इस तरह काम बंट जाता है। ऐसे में हर कोई अपनी-अपनी जिम्मेदारी तय कर लें, तो काम आसानी से हो जाता है। अगर आप नई-नई ऐसे घर में गयी हैं, तो शुरुआत में सारे काम देखें, सीखने की कोशिश करें। फिर तय करें कि आपको कौन-सा काम करना जमेगा। घर के बड़े आपको कौन-सी जिम्मेदारी देते हैं। अगर आपको उस काम को करने में दिक्कत हो रही हो, तो बड़ों से बात करें। वे सीखने में आपकी मदद करेंगे।

2. आगे बढ़कर बात करें

संयुक्त परिवार में ज्यादा लोग होते हैं, तो सभी से जुड़ने में वक्त लगता है। आप धीरे-धीरे सभी से बात करने की कोशिश करें। देखें कि किस व्यक्ति से किस विषय पर बात की जा सकती हैं। किनके शौक क्या हैं। कभी ऐसा न सोचें कि फलां तो हमेशा मुंह फुलाए दिखती है, तो उससे बात करने कौन जाये या फलां की उम्र मुझसे बहुत ज्यादा है। उनसे किस विषय पर बात करूंगी। आपको सभी के पास जा-जाकर बैठना होगा। बातें करनी होगी। तभी आप सभी को जान पायेंगी। उनकी करीबी बन पायेंगी।

3. अपने कमरे में घुसी न रहें

लड़कियां अक्सर ससुराल जाने के बाद अपने कमरे में ही बैठी रहती हैं। फोन पर बिजी रहती हैं, काम करती रहती हैं या टीवी देखती रहती हैं। उनकी इच्छा ही नहीं होती कि कमरे से बाहर निकलकर घरवालों से घुला-मिला जाये। यहीं पर वो सबसे बड़ी गलती करती हैं। याद रखें, शादी का मतलब सिर्फ पति से जुड़ना नहीं होता। पूरे परिवार को अपना बनाना पड़ता है।

4. इधर की बात उधर न करें

संयुक्त परिवार में लोग ज्यादा होते हैं, तो झगड़े भी होते ही हैं। अगर आप नई-नई आयी हैं, तो बेहतर होगा कि झगड़े में घुसे ही नहीं। झगड़ा जिन लोगों के बीच हुआ है, उनसे बात भी हो तो इधर की बात उधर बिल्कुल न करें। आप सभी से बना कर रखें। आप बस पति से बात कर मामला समझने की कोशिश कर सकती हैं।

5. दोस्त बनाने से सब होगा आसान

संयुक्त परिवार में अपनी उम्र के लोगों को अगर आप दोस्त बना लेंगी तो आपको घर में एडजस्ट होने में कोई दिक्कत नहीं आयेगी। ये दोस्त आपको घर के सभी लोगों का स्वभाव भी बताते जायेंगे और आपकी हर काम में मदद भी करेंगे। इस तरह आपको परिवारवालों को समझने में आसानी होगी।

आपको कोई चीज समझ नहीं आयेगी तो आप अपनी इस दोस्त से पूछ सकेंगी।

6. बच्चों को संभालने में मम्मियों की करें मदद

अगर अभी आप मां नहीं हैं, तो भी घर के दूसरों बच्चों को संभालने में उनकी मम्मियों की मदद करें ताकि जब आपकी बारी आये तो वे भी आपकी मदद दिल खोलकर करें। आप उनके बच्चों को नहलाने, खाना खिलाने, में मदद करें। बच्चों के साथ खेलें। इससे आपका भी बच्चों को संभालने की अनुभव बढ़ेगा। इस तरह आप उनकी मम्मियों का दिल भी जीत लेंगी।

7 . गलतफहमी तुरंत दूर करें

संयुक्त परिवार में गलतफहमियां बहुत जल्दी पनपती है। कई बार हम सुनी-सुनाई बातों पर भरोसा करके किसी से नाराज हो जाते हैं, उनके बारे में गलत राय बना लेते हैं। ऐसे में गलतफहमियां हो ही जाती हैं। परिवार वालों में दूरी आती है। बेहतर है कि किसी भी कही-सुनी बात पर यकीन न करें। जिससे भी कोई शिकायत हो, उससे सीधे-सीधे बात करें। किसी तीसरे को बीच में न आने दें।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local