भोपाल (नवदुनिया रिपोर्टर)। शहर के जहांगीराबाद इलाके में रहने वाले एक युवा कलाकार ने लोहे की कीलों से बाबासाहब डॉ. भीमराव आंबेडकर का आकर्षक पार्टेट बनाया है। इस युवा कलाकार का नाम है इमरान, जिसने हजारों कीलों का उपयोग कर यह आकर्षक कृति बनाई है, जो राष्‍ट्र में एकता, अखंडता और शिक्षा का संदेश दे रही है। अपने इस आर्ट वर्क को इमरान अब किसी प्रदर्शनी में प्रदर्शित करना चाहता है।

पारिवारिक जिम्मेदारी के कारण इमरान केवल सातवीं कक्षा तक पढ़ पाया, लेकिन उसका आर्टिस्टिक नजरिया गजब का है। यह तब देखने को मिला, जब लॉकडाउन के दौरान शहर में कोरोना संक्रमण के‍ लिहाज से हॉटस्पाट रहे जहांगीराबाद में उसने कोरोना की पेंटिंग बनाई थी। शब्बन चौराहे पर सड़क पर बनाई गई इस पेंटिंग के जरिए यह संदेश दिया गया था कि लोग वेबजह घरों के बाहर न निकलें और कोरोना गाइडलाइन का पूर्णत: पालन करें। जहांगीराबाद इलाके में उनकी इस पहल का असर भी दिखा था और भोपाल पुलिस ने भी इसकी सराहना की थी।

आयरन नेल आर्ट

इमरान ने बताया कि उसके पिता की फर्नीचर की दुकान है, जहां से बचे-खुचे सामान से वह आर्ट वर्क करते रहे हैं। कीलों से तस्वीर और बाइक की चेन से भारत का नक्शा बनाया है। डॉ. आंबेडकर का नारा 'शिक्षित बनो, संगठित रहो" भी लिखा है। इमरान ने बताया कि आंबेडर ने भारत का मजबूत संविधान लिखा था, इस वजह से उनकी छवि को मजबूत कीलों से आकार दिया है। वहीं भारत का नक्शा बाइक की चेन से बनाया है, जिसका संदेश है कि सभी मजहब के लोग एक-दूसरे से पारस्परिक संबंध बनाकर रहें। जिस तरह चेन की एक लड़ी टूटने से बाइक आगे नहीं बढ़ती, वैसे ही देशवासियों की एकता प्रभावित होने से देश के विकास की गति भी रुक जाएगी। इमरान ने बताया कि यह आयरन नेल आर्ट है। इसमें सात हजार दो सौ कीलें इस्तेमाल हुईं हैं और इसे घर में ही प्लायबोर्ड पर आकार दिया गया है।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags