बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन के लिए हुई मारामारी ने सरकारी व्यवस्थाओं पर सवालिया निशान खड़े कर दिए थे। जिसे देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रत्येक जिले में खुद के ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के लिए राशि जारी की थी। बुरहानपुर जिला अस्पताल परिसर में भी एक हजार एलपीएम क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किया गया था। इसकी स्थापना का काम करीब आठ माह पहले ही हो जाना था, लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा प्लांट स्थापना के लिए तय की गई एजेंसी की लापरवाही चलते दो दिन पहले ही प्लांट स्थापना का काम पूरा हुआ है। फिलहाल इसे टेस्टिंग मोड पर चलाया जा रहा है, लेकिन अब भी यह तय नहीं है कि प्लांट पूरी क्षमता के साथ कब तक काम करने लगेगा। इसके अलावा जिला अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही भी सामने आई है। लंबे समय से प्रबंधन के पास फंड उपलब्ध होने के बावजूद अब तक वार्डों में ऑक्सीजन सप्लाई वाली पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा नहीं हो सका है। जिसके चलते प्लांट की टेस्टिंग भी पूरी क्षमता से नहीं हो पा रही है। इस काम की निगरानी के लिए नियुक्त आरएमओ डा. प्रतीक नवलखे का कहना है कि पाइप लाइन फिटिंग का काम कब तक पूरा होगा कहा नहीं जा सकता।

पाइप लाइन फिटिंग के बाद ही शुद्धता की परख

जिला अस्पताल परिसर में स्थापित किया गया एक हजार लीटर प्रति मिनिट ऑक्सीजन की क्षमता वाला यह प्लांट आने वाले सालों में ऑक्सीजन की बढ़ी हुई जरूरत को भी पूरा करने की क्षमता रखता है। वर्तमान में इसे सिर्फ 20 फीसद क्षमता के साथ टेस्टिंग मोड में चलाया जा रहा है। इससे तैयार ऑक्सीजन की शुद्धता फिलहाल 90 फीसद के आसपास बताई गई है। तय मानकों के मुताबिक इसे 95 फीसद तक बढ़ाया जाना जरूरी है, लेकिन इसकी परख भी सभी बेड पर पाइंट लग जाने के बाद ही की जा सकेगी। प्लांट में ऑक्सीजन का प्रेशर 5.9 किग्रा प्रति वर्ग सेंटीमीटर आंका गया है, जो ज्यादा है। इसे चार से पांच किग्रा के बीच किया जाएगा।

कोरोना से हुई थीं 39 मौतें

जिले में कोरोना संक्रमित 39 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। हालांकि इनमें से एक भी मौत ऐसी सामने नहीं आई थी, जो ऑक्सीजन की कमी से हुई हो। इसके अलावा अब तक जिले में 2568 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें से 2529 लोग स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। वर्तमान में बुरहानपुर जिला कोरोना मुक्त है। शुक्रवार को भी स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने 1593 संदिग्धों की सैंपलिंग की है। इसे मिलाकर अब तक कुल 2,65,605 संदिग्धों की सैंपलिंग की जा चुकी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local