सामूहिक निकाह : विधायक ने समाजजन को दी योजनाओं की जानकारी

बुरहानपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना अंतर्गत रविवार को सामूहिक निकाह का आयोजन हुआ। इसमें 16 जोड़ों का निकाह हुआ। निकाह में जोड़ों के कुबूल कहते ही पंडाल में खुशी छा गई। लोहार मंडी स्थित इकरा स्कू ल में आयोजित इस कार्यक्रम में विधायक ठाकु र सुरेंद्र सिंह सहित शहर के गणमान्यजन शामिल हुए। निकाह सम्मेलन में जिले के अलावा आसपास के अंचलों के दूल्हा व दुल्हन रिश्तेदारों के साथ पहुंचे। अनाथ बच्चों, विधवा, दिव्यांग और असहाय लोगों की मदद करने वाली समाजसेवी संस्था बैतूलमाल द्वारा 27वां सामूहिक निकाह सम्मेलन आयोजित कि या गया। सुबह 10.30 बजे से दोपहर 3 बजे तक सात मौलानाओं द्वारा दूल्हा-दुल्हन को निकाह पढ़ाया गया।

बैतूलमाल संस्था के संयोजक मोहम्म्द सादिक जहाजवाला ने बताया कि निकाह के नाम पर होने वाली फिजूलखर्ची रोकने के लिए सामूहिक निकाह का आयोजन कि या जा रहा है। लोगों में अब जागरूकता आ रही है। समाज के पढ़े-लिखे और सक्षम लोग भी इसमें शामिल होकर बच्चों का निकाह कर रहे है। रविवार को 16 जोड़ों को निकाह पढ़ाया गया। मुख्यमंत्री निकाह योजना अंतर्गत प्रत्येक दुल्हन के खाते में शासन की ओर से 48 हजार रुपए की राशि दी जाएगी। निकाह सम्मेलन में विधायक सुरेंद्रसिंह ने सभी जोड़ों को मुबारकबाद दी। उन्होंने लोगों को शासन की योजना की जानकारी देते हुए आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम अंतर्गत हर व्यक्ति तक पहुंच कर उसकी समस्या का निराकरण करने का आश्वासन दिया। कार्यक्रम में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष हिदायत उल्ला, संस्थापक इकबाल मीर सहित अन्य जनप्रतिनिधि और समाज के गणमान्जन उपस्थित थे।

दिव्यांग को राजी खुशी अपनाया

गरीबी और दिव्यांगता की वजह से कई युवक-युवतियों को शादी में दिक्कत आती है। लंबे इंतजार के बाद भी उन्हें मनचाहा दूल्हा या दुल्हन नहीं मिल पाती है लेकि न मुख्यमंत्री निकाह योजना और बैतूलमाल संस्था की वजह से गरीब, असहाय और दिव्यांगों को अपना जीवन साथी चुनने में आसानी हो गई है। संस्था द्वारा आयोजित 27 वां सामूहिक निकाह सम्मेलन में एक दृष्टिबाधित युवती को भी जीवन साथी मिल गया। गरीब परिवार और कम पढ़ी-लिखी होने से इस युवती के परिजन लंबे समय से अच्छा घर-परिवार तलाश रहे थे। सामूहिक निकाह में इस दृष्टिबाधित को राजीखुशी से एक युवक ने अपना लिया।