पेज नंबर-14 के लिए...लीड खबर....।

-शारीरिक दूरी बनाए रखने बैंकों ने तैनात कि ए कर्मचारी, पुलिस भी कर रही जांच

07बीयूआर-20 :-खकनार में रुपये निकालने के लिए एटीएम के बाहर लगी भीड़।-नईदुनिया

07बीयूआर-21 :-बैंक के बाहर शारीरिक दूरी बनाकर गोल घेरे में खड़े लोग।-नईदुनिया

07बीयूआर-22 :-शनवारा बैंक के बाहर कतार को व्यवस्थित करने के लिए खड़ी महिला पुलिसकर्मी।-नईदुनिया

07बीयूआर-23 :-शहर कोतवाली में पुलिसकर्मियों को सैनिटाइज्ड करने के लिए लगाई गई मशीन।-नईदुनिया

बुरहानपुर/नेपानगर/खकनार (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मंगलवार को लॉकडाउन का एक पखवाड़ा पूरा हो गया। जैसे-जैसे दिन गुजर रहे हैं, लोगों के पास कै श के साथ ही राशन, कि राना व अन्य जरूरी सामान भी खत्म हो रहा है। हालांकि अधिकांश लोग लॉकडाउन का पालन करते हुए 21 दिन समाप्त होने और फिर बाजार में जरूरी सामान की आसानी से उपलब्धता होने की राह देख रहे हैं। इस बीच सबसे ज्यादा लोग बैंकों से रुपये निकालने पहुंच रहे हैं। इनमें भी महिलाओं की संख्या ज्यादा है।

मंगलवार को शहर समेत ग्रामीण इलाकों के अधिकांश बैंकों और कियोस्क सेंटरों में रुपये निकालने के लिए लोगों की लंबी लाइन देखी गई। ग्राहकों के बीच शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए बैंकों ने जहां बाहर गोले बना रखे हैं वहीं एक कर्मचारी को भी तैनात कि या गया है। बैंक में प्रवेश करने वालों के हाथ भी सैनिटाइजर या हैंडवॉश से धुलाए जा रहे हैं। इसके अलावा पुलिस भी दिनभर राउंड लगाकर देखती रही कि कहीं शारीरिक दूरी का उल्लंघन तो नहीं हो रहा है। शहर के शनवारा स्थित बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा समेत अन्य बैंकों में यही हालात रहे। जानकारों के मुताबिक बैंकों में भीड़ उमड़ने का कारण प्रधानमंत्री द्वारा महिलाओं के खातों में डाली गई 500 रुपये व उज्ज्वला योजना की राशि है। इसके अलावा अधिकांश एटीएम में कै श भी खत्म है जिसे बैंकों द्वारा भरा नहीं जा रहा। इसके चलते भी लोग बैंकों का रुख कर रहे हैं जिससे भीड़ हो रही है।

खकनार में पुलिस ने संभाला मोर्चा

खकनार के ग्रामीण इलाकों के बैंकों में मंगलवार को रुपये निकालने के लिए इतने लोग पहुंच गए कि कु छ जगह पुलिस बुलानी पड़ी। तब जाकर स्थिति नियंत्रण में आई। खकनार संवाददाता ने बताया कि तहसील मुख्यालय से लगे ग्राम देड़तलाई के बैंक ऑफ इंडिया शाखा में सुबह 11 बजे के बाद से भीड़ उमड़नी शुरू हो गई। लोग उज्जवला योजना, महिलाओं के खाते में आई राशि आदि निकालने के लिए पहुंचे थे। भीड़ इतनी ज्यादा हो गई थी कि लोग एक-दूसरे से चिपक कर खड़े थे। इसे देखते हुए बैंक प्रबंधन को पुलिस को सूचना देनी पड़ी। बैंक प्रबंधक दुर्गा प्रसाद ने बताया कि पुलिस के आने के बाद बैंक के बाहर गोले बनाकर लोगों को खड़ा कराया गया। इसके बाद भुगतान की प्रक्रिया शुरु की गई।

विधायक ने राशन के लिए दी सहायता

खकनार। नेपानगर विधायक सुमित्रा कास्डेकर ने मंगलवार को ग्राम रायतलाई आए कि सानों को राशन आदि के लिए पांच हजार रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई। उन्हें पता चला था कि क्षेत्र के करीब 80 आदिवासी मजदूर परिवार अन्य प्रदेशों से पलायन कर गांव वापस आ गए हैं। उनके पास राशन व अन्य जरुरी सामान की व्यवस्था नहीं है। इसके बाद उन्होंने सरपंच को फोन करके अपने देड़तलाई आवास बुलाया और पांच हजार की सहायता राशि दी। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भी इन गरीबों की हरसंभव मदद करने का आह्वान कि या है। उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में वे मजदूरों के साथ हैं और हरसंभव मदद का प्रयास करेंगी।

खुली दुकानें बंद कराईं

कि राना दुकान, पैथालॉजी लैब कराई बंदनेपानगर में कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए बाजार के अलावा घरों पर लाकर दी जा रही सब्जी पर भी प्रशासन ने रोक लगा दी थी। अब कि राना दुकानें भी 9 अप्रैल तक बंद रहेगी, लेकि न इस बीच कु छ दुकानें खुली होने पर प्रशासन ने सख्ती दिखाई। बुधवार को एक कि राना दुकान और पैथालॉजी लैब खुली नजर आने पर तहसीलदार सुंदरलाल ठाकु र, टीआई पीके मुवेल ने उसे बंद कराया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना