07बीयूआर-30 :-जिला अस्पताल में जांच के दौरान स्टाफ व जांच करा रहे लोगों को जरूरी दिशा-निर्देश देते हुए सिविल सर्जन डॉ. शकील अहमद।-नईदुनिया

-अस्पताल से अलग कर क्वारंटाइन सेंटर के साथ बनाया आइसोलेशन वार्ड

बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। स्वास्थ्य विभाग की डायरेक्टर समेत अन्य कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सरकार के कान खड़े हो गए हैं। अब सरकार ने संदिग्धों के संपर्क में लगातार रहने वाले कर्मचारियों समेत ज्यादा से ज्यादा संदिग्धों के ब्लड सेंपल जांच के लिए भेजने के निर्देश जारी कि ए हैं। जिसके चलते जिला अस्पताल में लगातार पहुंच रहे सर्दी, खांसी और कोरोना के संदिग्ध मरीजों की जांच में जुटे सिविल सर्जन डॉ. शकील अहमद ने भी मंगलवार को अपना ब्लड सेंपल जांच के लिए भेज दिया है। इसके साथ आठ अन्य लोगों को सेंपल भी भेजे गए हैं। इनमें गत दिनों विदेश से लौटे शाहपुर के पति-पत्नी, एक डॉक्टर, अस्पताल में भर्ती एक महिला मरीज, खांसी के एक संदिग्ध व्यक्ति आदि शामिल हैं। इनकी जांच रिपोर्ट बुधवार को मिलने की उम्मीद है।

इसके अलावा सिविल सर्जन ने बताया कि अब कोरोना से संबंधित सारी चीजें अस्पताल से अलग कर सामने बने प्रशिक्षण कें द्र में शिफ्ट कर दी गई हैं। यह निर्णय अन्य मरीजों की सुरक्षा के लिहाज से लिया गया है। इस प्रशिक्षण कें द्र में पहले से ही 50 बिस्तर का क्वारंटाइन सेंटर बनाया जा चुका था। अब इसी के दूसरे ब्लॉक में 50 बिस्तर का आइसोलेशन वार्ड भी बना दिया गया है। लिहाजा इससे संबंधित कि सी संदिग्ध या मरीज को रखने की जरुरत होगी तो उसे अस्पताल की बजाय इसी बिल्डिंग में अन्य मरीजों से अलग रखा जा सके गा।

गरीबों को बांटने के लिए पुलिस को सौंपे खाद्यान्न के पैके ट

07बीयूआर-28 :-शाहपुर में थाना प्रभारी जितेंद्रसिंह यादव को सामग्री सौंपते हुए समाजसेवी महेशसिंह चौहान।-नईदुनिया

शाहपुर। लॉक डाउन के चलते नगर के गरीब मजदूर परिवारों के सामने भोजन का संकट पैदा हो गया है। इसे देखते हुए समाजसेवी महेश सिंह चौहान ने गेहूं, चावल, नमक आदि के पैके ट बनाए हैं। इन पैके ट को मंगलवार को गरीबों में वितरण के लिए थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह यादव को सौंपा गया। इसके साथ ही उन्होंने निराश्रित और जरुरतमंदों की सूची भी सौंपी है। थाना प्रभारी ने अन्य समाजसेवी संस्थाओं से भी आग्रह कि या है कि यदि वे संकट की इस घड़ी में जरुरतमंदों की मदद करना चाहते हैं तो पुलिस के माध्यम से राशन आदि उपलब्ध करा सकते हैं।

खेत में भी दूरी बनाकर कटाई कर रहे कि सान

07बीयूआर-29 :-शारीरिक दूरी बनाकर फसल कटाई करते हुए कि सान व मजदूर।-नईदुनिया

खकनार। कोरोना का खौफ इस कदर लोगों पर हावी है कि अब ग्रामीण इलाकों में कि सान भी शारीरिक दूरी का महत्व समझ रहे हैं। इसी का परिणाम है कि वे खेतों में कटाई के दौरान शारीरिक दूरी बनाकर काम कर रहे हैं। खकनार के ग्राम कारखेड़ा में मंगलवार को कई खेतों में कि सानों की यह जागरूकता नजर आई। वे अपने परिवार के सदस्यों के साथ तीन-तीन फीट की दूरी बनाकर काम करते देखे गए। यहां पर इन दिनों मक्के की तुड़ाई हो रही है। कि सानों ने बताया कि कि सी में कोरोना का संक्रमण न हो इसलिए सरकार के निर्देशों का पालन कि या जा रहा है। उनका कहना था कि देश से कोरोना को भगाने के लिए सभी की सहभागिता जरुरी है। कि सान संतोष प्रसाद, सिंकद प्रसाद, ललन कुमार, राजेंद्र प्रसाद का कहना था कि मक्का की फसल तैयार हो जाने के कारण इसकी कटाई करना जरुरी थी। अन्यथा अब तक लॉक डाउन का पालन करते हुए सभी लोग घरों में ही रह रहे थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना