नेपानगर/बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में बढ़ती बेरोजगारी के साथ अपराधों का ग्राफ भी बढ़ना शुरू हो गया है। चोरी और लूट की वारदातों के बाद शुक्रवार को नेपानगर में डकैती और हत्या के प्रयास का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक सुबह चार बजे के आसपास करीब दस हथियारबंद बदमाश डकैतजी के इरादे से नेपा मिल कर्मचारी एसएस दास के घर में घुसे थे। उन्होंने घुसते ही दास और उनकी पत्नी रूबी दास पर हमला बोल कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। पुलिस को मौके से फावड़े में उपयोग होने वाला बेंट मिला है, जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि इसी से दास दंपती पर हमला किया गया होगा। सिर में गंभीर चोट आने के कारण दोनों को सुबह ही स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र से जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया था, लेकिन परिजनों ने उन्हें किसी निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। हमलावर घर से क्या ले गए हैं, अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन पड़ोसियों के मुताबिक वे अपने जेवर और नकदी बैंक में रखते थे। एसएस दास नेपा मिल के अकाउंट विभाग में कार्यरत हैं, जबकि उनकी पत्नी एक निजी स्कूल में प्रिंसिपल थीं। बताया गया है कि वारदात के वक्त घर में उनकी 70 वर्षीय मां भी मौजूद थीं, लेकिन आरोपितों ने उन्हें चोट नहीं पहुंचाई।

ज्ञात हो कि डकैती और हत्या के प्रयास की यह वारदात नेपानगर थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह यादव के सरकारी आवास के ठीक पीछे नेपा मिल के सी टाइप कॉलोनी के बंगले में हुई है। बावजूद इसके पुलिस को भनक नहीं लगी।

सुबह वारदात की खबर मिलने के बाद थाना प्रभारी सहित अन्य पुलिस अधिकारियों के अलावा एफएसएल और डॉग स्क्वाड भी पहुंचा था, लेकिन हमलावरों का सुराग नहीं लग पाया। देर शाम पुलिस अधीक्षक राहुल लोढ़ा भी घटनास्थल का जायजा लेने पहुंचे। उन्होंने हमलावरों को पकड़ने के लिए टीमें गठित कर जरूरी निर्देश भी दिए हैं।

सीएमडी ने जाने घायल दंपति के हाल

घटना की सूचना मिलने पर नवागत सीएमडी सौरभ देब भी नेपा लिमिटेड अस्पताल पहुंचे और घायलों का हालचाल जाना, लेकिन उनकी स्थिति खराब नजर आने पर उन्हें बुरहानपुर रैफर कर दिया गया।

नवागत सीएमडी ने हाल ही में दी प्रोजेक्ट से जुड़ी जिम्मेदारी

नेपा लिमिटेड के सहायक प्रबंधक वित्त एस दास की कार्यप्रणाली कंपनी के हित में काफी सख्त और ईमानदारी वाली मानी जाती है। यही कारण है कि हाल ही में नवागत सीएमडी सौरभ देब ने उन्हें प्रोजेक्ट से जुड़ी नई जिम्मेदारी भी सौंपी है। यानी फाइलें आदि चेक करना सहित अन्य कंपनी के महत्वपूर्ण काम उनके जिम्मे भी किए गए। नेपा मिल के इतिहास में यह पहला मामला है जब किसी अधिकारी पर इस तरह हमला हुआ हो। पुलिस को मामले की हर एंगल से जांच करना चाहिए।

पड़ोसियों ने दी डायल-100 पर सूचना

जानकारी के अनुसार सुब्रजीत दास और रूमी दास पर कईं वार किए गए। जिसमें वह गंभीर रुप से घायल हो गए। पड़ोसियों ने सुबह पांच बजे दरवाजा खुला और बाहर खून पड़ा देखा तो डायल 100 पर सूचना दी। पहले घायलों को नेपा लि. में लाया गया। यहां से निजी चिकित्सालय में ले जाया गया। जहां रूमी दास की स्थिति ठीक है, लेकिन सुब्रजीत दास आईसीयू में भर्ती है। उन्हें 28 टांके आए, जबकि पत्नी रूमी दास को सात टांके आए। सुबह 5.15 डायल 100 आई। टीआई सुबह 6.45 बजे आए। प्राथमिक जांच के बाद रवाना हुए। एफएसएल सुबह 8.35 बजे आई। टीम के सदस्यों ने फिंगरप्रिंट लिए।

वर्सन---

घर से चोरी कुछ भी नहीं गया। हालांकि फिलहाल पुलिस चोरी का प्रयास मानकर चल रही है। दो-तीन लोग थे और बाहर भी लोग खड़े थे। एक गेती का डंडा मिला है। चार पांच लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

- जितेंद्रसिंह यादव, थाना प्रभारी नेपानगर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags