बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। खाद्य पदार्थों में मिलावट के खिलाफ रविवार को फिर खाद्य सुरक्षा और राजस्व विभाग के अफसरों ने अभियान चलाया। इस दौरान शहर के तीन प्रतिष्ठानों से दूध, मावा और खाद्य तेलों के नमूने लिए गए। इन नमूनों को भोपाल स्थित प्रयोगशाला भेजा जाएगा। जांच में यदि सैंपल फेल हुए तो संबंधित प्रतिष्ठानों पर तीन लाख रुपये तक जुर्माना लगाया जा सकता है।

खाद्य सुरक्षा विभाग के निरीक्षक कमलेश डाबर ने बताया कि रविवार को इकबाल चौक स्थित मदीना होटल से मावा और बर्फी के सैंपल लिए गए हैं। अमरावती रोड स्थित कमल डेयरी से दूध का सैंपल और मंडी स्थित फरीद ट्रेडर्स से मूंगफली व सोयाबीन तेल के सैंपल लिए गए हैं। इस कार्रवाई के दौरान एसडीएम केआर बड़ोले, नायब तहसीलदार पल्केश परमार व खाद्य सुरक्षा विभाग के आलोक रावत सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

कलेक्टर के आदेश पर जांच शुरू

विभाग ने कलेक्टर प्रवीण सिंह के निर्देश पर दीपावली पर्व के पहले से जांच शुरू कर दी थी। कलेक्टर को विभिन्ना खाद्य पदार्थों में मिलावट की शिकायत मिली थी। जिसके चलते उन्होंने खाद्य सुरक्षा विभाग सहित राजस्व

विभाग के अधिकारियों को जांच और सैंपलिंग के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए थे। कमलेश डाबर ने बताया कि यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। वहीं एसडीएम केआर बड़ोले ने भी विभिन्ना प्रतिष्ठानों पर निरीक्षण कर खाद्य पदार्थों की जांच पड़ताल की।

डेढ़ सौ में से 25 सैंपल हुए फेल

कमलेश डाबर के मुताबिक इस साल उन्होंने विभिन्ना प्रतिष्ठानों से करीब 150 से ज्यादा खाद्य पदार्थों के सैंपल लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला भेजे थे। इनमें से 25 सैंपल जांच में फेल हो जाने पर संबंधित प्रतिष्ठानों के खिलाफ प्रकरण बनाकर एडीएम न्यायालय में प्रस्तुत किया गया था। न्यायालय द्वारा इनमें से करीब 12 प्रकरणों में जुर्माना लगाया जा चुका है, जबकि शेष मामले पेंडिंग हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस