बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विश्वास सेवा समिति और युवक कांग्रेस द्वारा शहर के विभिन्ना क्षेत्रों में लगातार निश्शुल्क स्वासथ्य शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। रविवार को हरीरपुरा स्थित स्कूल में जांच और परामर्श शिविर का आयोजन किया गया। इसमें सैकड़ों लोगों ने पहुंच कर लाभ लिया। युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष उबेद उल्लाह ने बताया कि यह तीसरा स्वास्थ्य शिविर है। इसका आयोजन ब्लॉक अध्यक्ष खलील सलामत द्वारा पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष अजय रघुवंशी के नेतृत्व में किया गया था। शिविर में निजी अस्पताल के विशेषज्ञ चिकित्सक मौजूद थे। इनमें ह्दय रोक, हड्डी रोग, बाल्यरोग, स्पाइन, स्त्री रोग सहित अन्य विशेषज्ञ शामिल थे। शिविर में दिनेश शर्मा, कमलेश शाह, मुशर्रफ खान, आरिफ बागवान, नजीर अंसारी आदि मौजूद थे।

बाला साहेब ठाकरे की जयंती पर लगाया रक्तदान शिविर

बुरहानपुर। शिवसेना के पितृ पुरुष बाला साहेब ठाकरे की 96वीं जयंती पर शिवसेना द्वारा रविवार को जिला अस्पताल में रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। शिवसेना के संभागीय अध्यक्ष आशीष शर्मा ने बताया कि पार्टी के संस्थापक और हिंदू ह्दय सम्राट बाला साहेब की जयंती पर बुरहानपुर जिला इकाई ने यह शिविर आयोजित किया है। इस दौरान करीब बीस शिव सैनिकों ने रक्तदान किया। शर्मा ने कहा कि बाला साहेब हमेशा कहते थे कि हमें अस्सी प्रतिशत मानव सेवा करनी चाहिए और बीस प्रतिशत राजनीति। उनके बताए मार्ग पर चलते हुए उनकी जयंती पर रक्तदान किया गया। इस दौरान अशोक कोली, मनोज मानूनगो, शांतिलाल राठौड़, गुलाब पारदे आदि मौजूद थे।

नेताजी सुभाषचंद बोस को स्वीकार नहीं थी गुलामी

खंडवा। नेताजी सुभाषचंद्र बोस को गुलामी किसी भी स्वरूप में स्वीकार नहीं थी। अंग्रेजी हुकूमत में कलेक्टर जैसे ऊंचा पद भी उन्हें गुलामी जंजीरों में जकड़ा हुआ लगा तो उन्होंने ये बेड़िया तोड़ दीं और निकल पड़े देश को आाद कराने। यह बात समाजसेवी प्रफुल्ल मंडलोई ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस के जन्म दिवस पर टेनिस प्रशिक्षण केंद्र में आयोजित स्मरण समारोह में रविवार को खिलाड़ियों से कही।

उन्होंने कहा वे गलत के खिलाफ थे और वही से उनका पहला आंदोलन शुरू हुआ। खेल और युवा कल्याण विभाग के टेनिस कोच अमीन अहमद ने कहा- देश की आजादी में बलिदान देने वाले वीरों के बारे में जानकारी देने के लिए इस तरह के कार्यक्रम आयोजित होने चाहिए। सिविल लाइन स्थित टेनिस प्रशिक्षण केंद्र पर पिछले 15 वर्षो से इस तरह के कार्यक्रम आयोजित कर टेनिस सीख रहे बच्चों को महापुरुषों के जीवन से परिचित कराया जा रहा है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ कोच शेख रशीद ने खिलाड़ियों व अभिभावकों से ऐसे महान व्यक्तियों के आदर्श को जीवन में उतारने का आग्रह किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local