बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना के नए वेरिएंट के कारण देश में तीसरी लहर की आशंका के बीच जिला प्रशासन ने फिर सख्ती शुरू करने का निर्णय लिया है। अब इंदौर की तर्ज पर शहर के ऐसे प्रतिष्ठानों में तालाबंदी की जाएगी, जिनके मालिकों और कर्मचारियों ने वैक्सीन के दोनों डोज अब तक नहीं लगवाए हैं। इसके साथ ही बिना मास्क के मिलने वाले वाहन चालकों के खिलाफ बुधवार से चालानी कार्रवाई भी शुरू की जा रही है। कलेक्टर प्रवीण सिंह ने कहा है कि प्रतिष्ठान संचालकों को पहले भी टीकाकरण के लिए समय दिया गया था। अब और रियायत नहीं दी जा सकती। जिले में कोरोना की वापसी रोकने के लिए गाइडलाइन का हर हाल में पालन करना होगा। ज्ञात हो कि हाल ही में सामने आए कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने पूरे विश्व में दहशत का माहौल तैयार कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलर्ट जारी करने के बाद प्रशासन ने सोमवार से फिर महाराष्ट्र बार्डर पर जांच शुरू कर दी है। सभी चेकपोस्टों में स्वास्थ्य कर्मियों को तैनात कर दिया गया है, जो हर आने वाले व्यक्ति की जांच कर रहे हैं। महाराष्ट्र के विभिन्ना शहरों में फिर कोरोना मरीजों की संख्या बढ़नी शुरू हो गई है।

आपदा प्रबंधन समिति की बैठक बुलाई

कलेक्टर प्रवीण सिंह ने बुधवार सुबह जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक भी बुलाई है। इस बैठक में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के उपायों को लेकर सदस्यों से चर्चा की जाएगी और निर्णय लिए जाएंगे। इस दौरान जिले में रोको टोको अभियान चलाने सहित अन्य बिंदुओं पर सुझाव लिए जाएंगे। इसके अलावा कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जिला अस्पताल में सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश भी दिए हैं। उन्होंने कहा है कि ऑक्सीजन प्लांट को जल्द चालू कर प्रत्येक वार्ड तक इसके जरिए ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। दवाओं व अन्य संसाधनों की जांच भी कर लें, जिससे आने वाली किसी भी विपरीत परिस्थिति से जूझा जा सके।

आज 42 हजार डोज लगाने का लक्ष्‌य

स्वास्थ्य विभाग बुधवार को फिर टीकाकरण महाअभियान आयोजित कर रहा है। इस दौरान जिले में 165 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। इनमें 42310 डोज लगाने का लक्ष्‌य लिया गया है। इनमें से तेरह घर-घर जाने वाली टीमों सहित 37 केंद्र शहरी क्षेत्र में होंगे। जिनके जरिए 12 हजार से ज्यादा डोज लगाने का लक्ष्‌य दिया गया है। मंगलवार शाम तक 3.75 लाख से ज्यादा लोगों को वैकसीन की दूसरी डोज लगाई जा चुकी थी। अब जिले में 1.75 लाख के आसपास ही लोग दूसरी डोज के लिए शेष बचे हैं। जिला टीकाकरण अधिकारी डा. वायबी शास्त्री के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग जल्द दूसरी डोज लगाने का प्रयास कर रहा है, ताकि भविष्य में टीकाकरण के विस्तारित बूस्टर डोज आदि की तैयारी की जा सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local