बुरहानपुर/डोईफोड़िया (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मंडी बोर्ड की उपाध्यक्ष मंदू दादू सहित क्षेत्र के अन्य भाजपा नेताओं को इंटरनेट मीडिया पर गद्दार बताते हुए आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर पुलिस ने नेपानगर विधायक सुमित्रा कास्डेकर के निजी सचिव प्रियेश जोशी के भाई लवेश जोशी को जेल भेज दिया है। खकनार पुलिस ने जिला पंचायत के वार्ड क्रमांक आठ से सर्वाधिक मत हासिल करने वाले गंगाराम मार्को की लिखित शिकायत पर यह कार्रवाई की है। लवेश के खिलाफ धारा 294, 506 व अनुसूचित जनजाति अधिनियम की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। बताया गया है कि लवेश ने राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त मंजू दादू के अलावा प्रदीप जाधव, नंदू मालवीय, अशफाक मलिक, गंगाराम मार्को आदि के खिलाफ टिप्पणी की थी। गंगाराम मार्को ने बताया कि जब वे इसकी शिकायत लेकर लवेश जोशी के पास पहुंचे तो उसने जाति सूचक गालियां देते हुए अपमानित किया और भगा दिया। इसके बाद उन्होंने खकनार थाने पहुंच कर प्रकरण दर्ज कराया। इस मामले को लेकर रविवार दोपहर थाने में करीब दो घंटे तक भाजपा नेताओं का मजमा लगा रहा।

चुनाव में पिछड़ने पर निकाली खीझ

विधायक सुमित्रा देवी ने अपने गृह ग्राम देड़तलाई से सरपंच पद के लिए अपनी भांजी को चुनाव मैदान में उतारा था। उसके सामने गांगाराम मार्को की पत्नी गंगाबाई चुनाव लड़ रही थीं। मतगणना में उन्हें 1071 वोट ज्यादा मिले हैं। इसके अलावा विधायक ने जिद करके जिला पंचायत के वार्ड क्रमांक आठ से अपने चहेते मनमोहन पटेल को पार्टी समर्थित प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में उतारा था। वहां भी गंगाराम मार्को ने बाजी मार ली। इसके चलते लवेश ने हार की खीझ निकालते हुए आवेश में इंटरनेट मीडिया पर यह टिप्पणी कर दी थी, जो भारी पड़ गई।

गंगाराम मार्को की लिखित शिकायत व अन्य लोगों की शिकायत के आधार पर लवेश जोशी को गिरफ्तार कर न्यायालय में प्रस्तुत किया गया था। वहां से उसे खंडवा जेल भेज दिया गया है। - केपी धुर्वे, थाना प्रभारी खकनार

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close