बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टर प्रवीण सिंह की सक्रियता और अपनाए गए उपायों के चलते वर्तमान में बुरहानपुर जिला कोरोना की चेन तोड़कर प्रदेश के सबसे कम संक्रमण वाले तीन जिलों में शामिल है। जिले में अब तक कुल 798 कोरोना पॉजिटिव सामने आए हैं, जिनमें से 765 पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं और 26 की मौत हुई है। वर्तमान में कोरोना के सिर्फ छह सक्रिय केस हैं। स्वास्थ्य विभाग रोजाना 350 से ज्यादा संदिग्धों की सैंपलिंग और जांच कर रहा है, लेकिन अधिकांश रिपोर्ट निगेटिव आ रही हैं। अब तक नियंत्रण में रहा कोरोना आने वाले दिनों में भोपाल-इंदौर व महाराष्ट्र के रास्ते फिर दस्तक दे सकता है।

दरअसल सरकार से मिली छूट के बाद इन संक्रमित शहरों से रोजना डेढ़ दर्जन से ज्यादा बसें बुरहानपुर आ रही हैं। इनमें रोजाना 300 से ज्यादा लोग आवागमन कर रहे हैं। इन बसों में क्षमता से ज्यादा यात्रियों को ढोने के साथ ही कोरोना संबंधी नियम भी जमकर टूट रहे हैं। यात्रियों से खचाखच भरी बसों में न तो मास्क नजर आते और न शारीरिक दूरी। बस मालिक बसों को सैनिटाइज भी नहीं कर रहे हैं। बावजूद इसके परिवहन विभाग अब भी नींद से नहीं जागा है। शहर पहुंचने के बाद इन यात्रियों की जांच अथवा सैंपलिंग की व्यवस्था भी नहीं की गई है। इसके चलते जिले में फिर कोरोना संक्रमण के पैर पसारने की आशंका बढ़ गई है।

फीवर क्लीनिक में हो रहा खांसी व बुखार का इलाज

जिले में कोरोना संक्रमण काबू में आने के बावजूद जिला प्रशासन ने सर्दी, खांसी और बुखार के मरीजों के निजी अस्पतालों में इलाज पर रोक बरकरार रखी है। इनका इलाज पुराने ताप्ती अस्पताल और पुराने टीबी अस्पताल सहित चार अन्य जगह खोले गए सरकारी फीवर क्लीनिकों में ही इलाज किया जा रहा है। संदेह होने पर यहीं उनकी कोरोना जांच के लिए सैंपलिंग भी की जा रही है। ताप्ती अस्पताल फीवर क्लीनिक में रोजाना आठ से दस मरीज इलाज के लिए पहुंच रहे हैं, लेकिन कोरोना की जांच रिपोर्ट अधिकांश की निगेटिव आ रही है। नवंबर माह में स्वास्थ्य विभाग जिला अस्पताल व फीवर क्लीनिक को मिलाकर 6 हजार से ज्यादा संदिग्धों की सैंपलिंग कर चुका है। इनमें से सिर्फ 13 की रिपोर्ट ही पॉजिटिव आई है। जिले में कोरोना संक्रमण की दर 0.8 फीसद और रिकवरी रेट 95.86 फीसद दर्ज किया गया है। बावजूद इसके स्वास्थ्य विभाग ने तैयारियां की हैं।

-डॉ. एमपी गर्ग, सीएमएचओ ने कहा कि हम रोजाना 350 से ज्यादा संदिग्धों की सैंपलिंग कर रहे हैं, लेकिन नाममात्र के पॉजिटिव सामने आ रहे हैं। ठंड में संक्रमण बढ़ने की आशंका है, जिसे लेकर विभाग ने सभी तैयारियां कर रखी हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस