Road Safety Campaign Burhanpur: बुरहानपुर/नेपानगर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सामाजिक सरोकार से जुड़े नईदुनिया के सड़क सुरक्षा अभियान के तहत शुक्रवार को शहर के शासकीय पुरुषार्थी हायर सेकंडरी स्कूल, नेपानगर के सेंट एंथनी कान्वेंट स्कूल और केंद्रीय विद्यालय में यातायात की पाठशाला लगाई गई। तीनों स्थानों पर 600 से ज्यादा विद्यार्थियों को यातायात के नियम बताए गए। पुरुषार्थी स्कूल में बीआरसी सुधाकर माकुंदे ने विद्यार्थियों को बताया कि वे अठारह साल की उम्र पार करने के बाद सबसे पहले लाइसेंस बनवाएं। इसके बाद ही दोपहिया वाहन चलाएं। किशोवय बालिकाओं को बताया गया कि बिना गियर वाली स्कूटी के लिए सोलह साल की उम्र से लाइसेंस मिल जाता है। इसलिए लाइसेंस जरूर बनवाएं। इसके अलावा वाहन चलाते समय हेलमेट अनिवार्य रूप से लगाने की बात कही गई। माकुंदे ने कहा कि किसी हादसे के समय हेलमेट ही हमारी जान बचाता है। इसके अलावा वाहन नियंत्रित गति में चलाने, सिग्नल के हिसाब से वाहन चलाने और यातायात के सभी नियमों का पालन करने की जानकारी दी गई। अंत में विद्यार्थियों को यातायात नियमों का पालन करने की शपथ दिलाई गई।

हेलमेट की अनिवार्यता हमारी सुरक्षा के लिए

सेंट एंथनी कान्वेंट स्कूल नेपानगर में भी शुक्रवार को यातायात की पाठशाला लगाई गई। जिसमें 400 से ज्यादा विद्यार्थी शामिल हुए। स्कूल के शिक्षक रवींद्र पाटिल ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने हेलमेट की अनिवार्यता हमारी सुरक्षा के लिए ही की है। इसका पालन करना हम सबका कर्तव्य है। उन्होंने नईदुनिया की पहल का स्वागत करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रम होते रहने चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि हम तेज रफ्तार वाहन चलाकर और यातायात नियमों का उल्लंघन कर कोई मेडल हासिल नहीं कर लेते। समझदारी इसी में है कि नियमों का पालन करते हुए नियंत्रित गति से वाहन चलाएं। जिससे दुर्घटनाओं में कमी आएगी। हमारा परिवार हमारा इंतजार करता है।

वाहन की जांच कराना भी जरूरी

नईदुनिया के यातायात जागरूकता अभियान के तहत शुक्रवार को नेपानगर के केंद्रीय विद्यालय में कार्यशाला आयोजित की गई। प्राचार्य एके सिंह ने विद्यार्थियों को बहुत ही रोचक ढंग से यातायात नियमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यातायात नियमों का पालन करते हुए वाहन चलाना सभी के लिए सुरक्षित और लाभदायक है। सभी विद्यार्थियों को प्रेरित किया कि वे अपने पालकों को भी यातायात नियमों का पालन करने के लिए कहें। साथ ही हेलमेट पहनकर ही वाहन चलाएं। उन्होंने वाहन की नियमित अंतराल पर जांच कराना कितना अनिवार्य है इस बात को विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से समझाया। करीब नौ साल तक केंद्रीय पुलिस बल में सब इंस्पेक्टर रहे विद्यालय के संस्कृत शिक्षक रामावतार मीणा ने यातायात के चि- जैसे ट्रैफिक लाइट को सुंदर ढंग से प्रस्तुत किया। उन्होंने सुरक्षित यात्रा के लिए टायर की हवा, ब्रेक, इंडिकेटर व टेल लाइट आदि की जांच को अनिवार्य बताया। लाइब्रेरियन विकास रावत ने यातायात बुकलेट दिखाकर नियमों के अनुसार वाहनों चलाने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम का संचालन अंग्रेजी शिक्षक रिया अहमद ने किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close