Road Safety Campaign Burhanpur: बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आप में से कितने विद्यार्थी क्रिकेट खेलते हैं। जवाब आया सात। क्या आप क्रिकेट खेलने बिना पैड के मैदान पहुंच जाते हैं। विद्यार्थियों ने जवाब दिया नहीं। निमाड़ वैली इंटरनेशनल स्कूल के संचालक नूरुद्दीन काजी ने कहा कि बिना हेलमेट के बाइक चलाना भी बिना पैड के क्रिकेट खेलने जैसा है। दरअसल शनिवार को वे नईदुनिया के सामाजिक सरोकार से जुड़े सड़क सुरक्षा अभियान के तहत लगाई गई यातायात की पाठशाला में नियमों की जानकारी दे रहे थे। काजी ने तार्किक ढंग से छोटे-छोटे उदाहरण देकर विद्यार्थियों को बताया कि यातायात के नियमों का पालन करना कितना जरूरी है। उन्होंने कहा कि जब तक आप 18 साल के नहीं हो जाते और लाइसेंस नहीं बन जाता, तब तक बाइक नहीं चलाएं। बाइक चलाते समय मोबाइल पर बात करने से ध्यान भटक सकता है और आप हादसे का शिकार हो सकते हैं।

इसी तरह ओवर स्पीड वाहन चलाना भी जानलेवा हो सकता है। चौराहों पर लगे सिग्नल की अनदेखी के कारण शनवारा चौराहे पर हमने कई दुर्घटनाएं देखी हैं। आपकी जरा सी गलती स्कूल प्रबंधन और स्वजन दोनों को परेशान कर सकती है। इसके अलावा जो बधो साइकिल से स्कूल आते हैं, उन्हें भी यातायात के नियमों का पालन करना चाहिए। कई बार हम बिना हाथ दिए अथवा देखे मुड; जाते हैं। जिससे दुर्घटना की संभावना बनी रहती है।

गलत ढंग से ओवरटेक न करें: नूरुद्दीन काजी ने विद्यार्थियों से कहा कि वे गलत तरीके से ओवरटेक न करें। कई बार हम आगे चल रहे वाहन के बाईं ओर से ओवरटेक करने की गलती करते हैं। सही तरीका दायीं ओर से ओवरटेक करना है। ऐसा करने पर आगे चल रहे वाहन का चालक हमें देख पाता है और आगे निकलने के लिए साइड दे देता है। उन्होंने छात्राओं को बताया कि बिना गियर की स्कूटी के लिए सोलह साल की उम्र से भी लाइसेंस दिया जाता है। इसलिए बिना लाइसेंस वाहन चलाकर चालानी कार्रवाई का सामना करने की जगह लाइसेंस बनवा कर वाहन चलाएं। इस दौरान लाइसेंस व बीमा सहित अन्य जरूरी कागजात अपने पास रखें। खुद यातायात के नियमों का पालन करने के साथ ही अपने परिवार के सदस्यों को भी जागरूक करें। अंत में सभी विद्यार्थियों को यातायात के नियमों का पालन करने की शपथ भी दिलाई गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close