Road Safety Campaign Burhanpur: बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नईदुनिया के सामाजिक सरोकार से जुड़े सड़क सुरक्षा अभियान के तहत बुधवार को लालबाग के सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल में यातायात की पाठशाला लगाई गई। इसमें स्कूल की प्राचार्य अलका महाजन और शिक्षिका रानू अग्रवाल ने विद्यार्थियों को यातायात के नियमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यातायात के नियम सिर्फ वाहन चालकों पर ही लागू नहीं होते, बल्कि साइकिल से और पैदल चलने वालों पर भी लागू होते हैं।

साइकिल से स्कूल आने वाली छात्राएं खासतौर पर इस बात को समझें कि उन्हें मुख्य मार्ग पर आते समय अथवा स्कूल के लिए मुड़ते समय यह देखना चाहिए कि दोनों तरफ कोई वाहन तो नहीं है। मुड़ने से पहले हाथ जरूर देना चाहिए। चौराहे का सिग्नल यदि लाल हो तो उसके हरा होने का इंतजार करें। रानू अग्रवाल ने विद्यार्थियों को बताया कि बाइक या स्कूटी चलाते समय हेलमेट अनिवार्य रूप से पहनें। इससे जीवन की सुरक्षा होती है। दुर्घटना के समय हेलमेट ही हमारी जान बचाता है। हम अक्सर अखबारों में पढ़ते हैं कि इंदौर-इच्छापुर मार्ग पर हादस हो गया और उसमें इतने लोगों की मौत हो गई। इनमें से अधिकांश लोग बिना हेलमेट वाहन चलाने वाले होते हैं। अठारह साल की उम्र पार करते ही लाइसेंस बनवाएं और इसके बाद ही वाहन चलाएं। यदि कार में सफर कर रहे हों तो सीट बेल्ट अनिवार्य रूप से लगाएं।

परिवार के सदस्यों को भी टोकें

प्राचार्य अलका महाजन ने विद्यार्थियों से कहा कि वे खुद तो यातायात के नियमों का पालन करें ही अपने परिवार के सदस्यों, आसपास के लोगों और मित्रों को भी इसके लिए प्रेरित करें। आप जैसा व्यवहार करेंगे आने वाली पीढ;ी भी वैसा ही सीखेगी। उन्होंने कहा कि गलत तरीके से ओवरटेक करना अथवा तेज गति से वाहन चलाना हमेशा दुर्घटना का कारण बनता है। इसलिए ऐसा नहीं करना चाहिए। ओवरटेक करने से पहले हार्न अथवा अपर डिपर लाइट जरूर दें। वाहन चलाने के दौरान लाइसेंस, बीमा सहित अन्य दस्तावेज अपने साथ रखें। इससे आप पुलिस की चालानी कार्रवाई से भी बच जाएंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close