बुरहानपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बीते छह दिन से लापता खामनी निवासी पत्रकार बंडू उर्फ पंडित माली का केस पुलिस ने सुलझा लिया है। गुरुवार को पुलिस अधीक्षक राहुल लोढ़ा ने बताया कि पत्रकार बंडू माली को 19 जनवरी की रात आरोपितों ने जिंदा जला दिया था। घटना स्थल से कुछ हड्डियां, हाथ में पहनी अंगूठी और बेल्ट का बक्कल बरामद हुआ है। इस मामले में खामनी निवासी तीन आरोपितों को अपहरण और हत्या के मामले में गिरफ्तार किया गया है। मौके से मिली हड्डियों को डीएनए जांच के लिए भेजा गया है। उन्होंने बताया कि हत्या से पहले आरोपितों ने गांव के पास खेत में बने एक मकान में बंडू माली के साथ पार्टी की थी। इस दौरान सभी ने जमकर शराब पी थी। खाने को लेकर आपस में हुआ विवाद इतना बढ़ा कि बात मारपीट तक पहुंच गई। साथ में पार्टी कर रहे मोहन मोतेकर, किरण पाटिल और गोलू उर्फ कांतिलाल ने बंडू के साथ पहले जमकर मारपीट की और बाद में केरोसिन डालकर कमरे में आग लगा दी थी। पुलिस ने तीनों आरोपितों को एक दिन की रिमांड पर लिया है।

इस तरह हुआ घटनाक्रम

गत 19 जनवरी की रात बंडू माली के पार्टी के बाद घर नहीं लौटने पर उनके पुत्र जयेश ने शाहपुर थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस ने जांच शुरू ही की थी, कि इसी बीच गांव के गोपाल मोतेकर ने उसके खेत में बने मकान में अज्ञात व्यक्ति द्वारा आग लगाने की सूचना दी। पुलिस को मामला संदिग्ध लगने पर एफएसएल टीम को घटना स्थल पर बुलाया गया। जांच में मौके से जले हुए मोबाइल और हड्डियों के टुकड़े मिले थे। जिससे पुलिस का शक और बढ़ गया। जांच के दौरान बंडू की बाइक चौंडी गांव के पास निर्माणाधीन डैम के पास से मिली थी। यह बाइक आरोपितों ने ही वहां छोड़ी थी। पूछताछ में आरोपितों ने हत्या करना स्वीकार कर लिया है। जिसके बाद पुलिस ने तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

दोस्त को छोड़कर दोबारा लौटा

आरोपितों ने बताया कि यह पार्टी बंडू के दोस्त संतोष द्वारा दी गई थी, लेकिन शुरूआत में ही विवाद हो जाने के कारण वह वहां से चला गया था। उसे जाता देख बंडू भी वहां से निकल आया और संतोष को गांव तक अपनी बाइक से लेकर गया। उसे छोड़ने के बाद वह फिर पार्टी स्थल पर पहुंचा। जहां उसी बात के लेकर फिर विवाद शुरू हो गया और आरोपितों ने उसे जिंदा जला डाला। घटना के बाद आरोपित अपने-अपने घर चले गए थे। इस हत्याकांड के सुलझाने में एसडीओपी नेपानगर यशपाल सिंह ठाकुर के मार्गदर्शन में शाहपुर थाना प्रभारी गिरवर सिंह जिलौदिया, एसआई राजेंद्र इंगले कमलेश यादव, मनीष पटेल, राजललन तिवारी, एएसआई महेंद्र पाटीदार, प्रधान आरक्षक पवन देशमुख, शिवेसिंह, आरक्षक राजेश रावत, शिव कुमार कलमे आदि का विशेष योगदान रहा।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local