छतरपुर। शहर के निजी नर्सिंग होम में डॉ. एमपीएन खरे ने एक युवक का जटिल ऑपरेशन कर उसके पेट से विभिन्न् प्रकार के 33 चीजें निकाली हैं। इनमें पेन, बोरा सिलने का सूजा समेत चमड़ा, प्लास्टिक व लोहे की वस्तुएं हैं। दो घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद युवक पूरी तरह से स्वस्थ्य होने का दावा डॉक्टर ने किया है।

जानकारी मुताबिक ईशा नगर निवासी योगेश ठाकुर (30) के पेट से 33 वस्तुएं निकाली गईं। युवक को कुछ दिन पहले भर्ती कराया गया था। एक्सरे होने के बाद पेट में विभिन्न् वस्तुएं अंदर होने का पता चला। इसके बाद ऑपरेशन करने का निर्णय लिया गया। मंगलवार दोपहर दो घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद डॉ. एमपीएन खरे व उनकी टीम ने 33 वस्तुओं को बाहर निकाला। डॉक्टर के मुताबिक

युवक के पेट से प्लास्टिक के पेन, बोरा सिलने बाला सूजा, आरी का टुकड़ा, ब्लैड, चमड़ा के बेल्ट का टुकड़ा, तार का टुकड़ा आदि कुल मिलाकर 33 आइटम ऑपरेशन के दौरान पेट से निकाले गए। डॉक्टर ने कहा कि उन्होंने अपने जीवन में पहला ऐसा ऑपरेशन किया और देखा। बताया कि मरीज के पेट में दर्द हुआ तो परिजन उसे लेकर छतरपुर लेकर आये। एक्सरे में पेट के अंदर कई तरह का सामान दिखा।

ऑपरेशन कर इन वस्तुओं को निकाला गया। ऑपरेशन टीम में शामिल रहे निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ. अरविंद शुक्ला ने बताया कि युवक कील, रबर, सूजा सहित अन्य वस्तुएं खा लेता था। यह उसकी आदत हो गई। एक्सरे कराया तो 6 इंच का सूजा और 10 पेन निकले। डॉक्टरों ने बताया कि इन वस्तुओं को खाने से शरीर को नुकसान हो सकता था। अब युवक पूरी तरह से स्वस्थ्य है।