- अतिक्रमण व वाहनों की गलत पार्किंग से बढ़ी समस्या

छतरपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर से होकर गुजरने वाले दो नेशनल हाइवे पर वाहनों व पैदल राहगीरों का चलना आसान नहीं है। हाइवे पर वाहनों की बेतरतीब पार्किंग व अतिक्रमण के कारण जाम लगना आम हो गया है। जिससे लोगों की समस्या बढ़ गई है। इस ओर से जिम्मेदार कोरी बयानबाजी करके कार्रवाई के नाम पर मौन हैं।

छतरपुर शहर से होकर रीवा-ग्वालियर नेशनल हाइवे और सागर-कानपुर नेशनल हाइवे गुजरते हैं। दोनों हाइवे का संधिस्थल है जवाहर मार्ग, इस मार्ग पर इलाहाबाद बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एसबीआई एडीबी शाखा, एचडीएफसी बैंक, ओवरसीज बैंकों के आगे हाइवे पर वाहनों की गलत पार्किंग कर दी जाती है, जिससे यातायात बाधित हो जाता है। हाइवे पर स्थित फुव्वारा चौक, बस स्टैंड, बिजावर नाका, जिला अस्पताल, छत्रसाल चौक व पुराना पन्ना नाका जैसे व्यस्ततम क्षेत्रों सहित जवाहर रोड से जोगेंदर सिंह पेट्रोल पंप के पास, बस स्टैंड के सामने हाइवे पर अतिक्रमण से दिन में कई बार जाम लग जाता है, जिससे दिन में कई बार काफी देर तक वाहन जाम में फंसे रहते हैं। बस स्टैंड से महोबा रोड पर गंभीर अतिक्रमण है। जिला अस्पताल के आगे वाहनों की गलत पार्किंग से हाइवे सकरा हो गया है। छत्रसाल चौराहे पर हाउसिंग बोर्ड की बिल्डिंग के आगे बेतरतीब तरीके से वाहनों को खड़ा करके हाइवे को बाधित किया गया है। बढ़ते अतिक्रमण के खिलाफ प्रशासन आज तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर सका है, जिससे यह मर्ज लगातार बढ़ता जा रहा है। इस सच्चाई को कोई भी स्वीकार करने को तैयार नहीं है। इस मामले में कार्रवाई का दिखावा कई बार करके वाहवाही लूटी गई है लेकिन ठोस कदम नहीं उठाए जा सके हैं।

हाइवे पर हाटों से बढ़ी समस्या

नेशनल हाइवे पर लगने वाली साप्ताहिक हाटों ने पूरी कर दी है। शुक्रवार को कलेक्टर बंगले से विद्युत विभाग कार्यालय तक, रविवार को छत्रसाल चौराहे से आकाशवाणी तिराहे तक, गुरुवार को महोबा रोड पर लगने वाली हाटों ने पूरी कर दी है। इन हाटों के कारण हाइवे पर रास्ता जाम हो जाता है। छिटपुट हादसे अक्सर होते रहते हैं। बड़ी अनहोनी का खतरा बराबर बना रहता है। हाइवे पर बीएड कॉलेज के आगे फुटपाथ के पास चाट, समोसे के हाथ ठेले स्थाई रूप से लगने के कारण वाहनों का आवागमन प्रभावित होता है। यहां कभी बड़ा हादसा हो सकता है। रीवा-ग्वालियर नेशनल हाइवे पर यातायात को सुगम बनाने के लिए इसका चौड़ीकरण किया गया था। हाइवे के दोनों ओर पैदल चलने वालों के लिए बनाए गए फु टपाथों पर अतिक्रमण करके दुकानें सजा ली गई हैं। खानपान के स्टालों सहित, जूते, कपड़े और मोबाइल की दुकानें फु टपाथों पर सज जाने से फु टपाथों के आगे लोग वाहन खड़े करके खरीदारी करते हैं, जिससे हाइवे पर आवागमन अवरुद्ध हो जाता है।

इनका कहना है

तेजी से बढ़ते छतरपुर शहर की सड़कों पर अतिक्रमणकारियों का राज और अव्यवस्था का आलम है। हाइवे पर अतिक्रमण व वाहनों की बेतरतीब पार्किंग से आवागमन प्रभावित, लोगों का पैदल चलना मुश्किल हो गया है। इस समस्या का स्थाई समाधान खोजने के बारे में जिम्मेदारों ने आज तक नहीं सोचा है।

डॉ. एसपी जैन

प्राध्यापक, महाराजा कालेज छतरपुर

हाइवे पर अतिक्रमण व वाहनों की गलत पार्किंग लोगों के लिए जानलेवा भी साबित हो रही है। अफसोस इस बात का है कि जिनके पास व्यवस्था बनाने की जिम्मेदारी है। उन्हें ही हाइवे से अतिक्रमण हटाने व सुविधाजनक पार्किंग के बारे में सोचने की फुर्सत नहीं है।

रामस्वरूप पाठक

यूडीसी, शिक्षा विभाग

हाइवे व बाजार में अतिक्रमण के कारण आवागमन बाधित हो रहा है। इस दिशा में राजस्व, पुलिस व नगर पालिका यदि कोई ठोस कार्रवाई शुरू करे और बाद में रुटीन फालोअप किया जाए तभी समस्या का स्थाई समाधान हो सकता है।

किरन रैकवार

गृहणी

हाइवे सहित पूरा शहर गंभीर अतिक्रमण की चपेट में है। सकरी सड़कों पर आए दिन हादसे हो रहे हैं। जाम लग रहा है। ये सब न तो अधिकारियों को दिखता है न जनप्रतिनिधि इस बारे में सचेत है। इस लापरवाही का खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

राशि सक्सेना

कंप्यूटर इंस्ट्रक्टर, छतरपुर

नोट- फोटो 22, 23, 24, 25, 26, 27 का कै प्सन है-

छतरपुर। छत्रसाल चौक पर गलत तरीके से खड़े वाहन।-22

छतरपुर। जवाहर मार्ग पर जाम में फंसे वाहनों की कतार।-23

छतरपुर। डॉ. एसपी जैन।-24

छतरपुर। रामस्वरूप पाठक।-25

छतरपुर। किरण रैकवार।-26

छतरपुर। राशि सक्सेना।-27

यूरिया वितरण शिकायत के लिए कॉल सेंटर शुरू

छतरपुर। कृषि विभाग ने यूरिया के बारे में समस्याओं की जानकारी व निवारण के लिए राज्य स्तरीय यूरिया वितरण शिकायत कक्ष बनाया है। किसान कक्ष के दूरभाष क्रमांक 0755-2558823 पर कार्यालयीन समय में सुबह 10 से शाम 5.30 बजे तक अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। बताया गया है कि इस कक्ष में सहायक संचालक स्तर के 13 अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। ये अधिकारी यूरिया के बारे में दिन भर में आई शिकायतों का निराकरण करने के बाद शाम को वरिष्ठ स्तर पर रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

भीषण अग्निकांड में कार और दुकान जलकर खाक, लाखों का नुकसान

छतरपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में दो बड़े अग्निकांड हुए, जिसमें एक स्कूल की कार और एक मोबाइल व इलेक्ट्रॉनिक की दुकान आग की भीषण लपटों से घिर गई। दोनों जगह आग को बुझाने में कई दमकल वाहन, पुलिस और आम लोग लगे रहे, तब कहीं आग पर काबू पाया जा सका। दोनों अग्निकांडों में लाखों रुपए का नुकसान आंका गया है।

जिला मुख्यालय से 55 किमी दूर स्थित हरपालपुर थाने के ग्राम इमलिया में बुधवार को सुबह स्कूल में लगी कार में उस समय आग लग गई, जब उसमें असावधानी से गैस भरी जा रही थी। इस अग्निकांड में कार पूरी तरह से जल गई है। इसी तरह जिला मुख्यालय से 70 किमी दूर लवकुशनगर कस्बे में आधी रात के समय एक मोबाइल की दुकान में जरा सी स्पार्किंग एक भीषण अग्निकांड में बदल गई। चार-चार दमकल वाहनों ने काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया अन्यथा आग विकराल होकर आसपास के घरों तक पहुंच जाती। अभी दोनों अग्निकांडों में लाखों रुपए का नुकसान आंका गया है। फिलहाल लवकुशनगर की दुकान में लगी आग से हुए नुकसान का सही तरीके से जायजा लिया जा रहा है।

कार में गैस भरते समय भड़की आग, जली कार

हरपालपुर। थाना क्षेत्र के ग्राम इमलिया में एक निजी स्कूल में बच्चों को लाने व ले जाने के लिए लगी एक कार में असावधानी पूर्वक रसोई गैस रिफिल करते समय आग लग गई है। जिससे पूरा वाहन जलकर कबाड़ हो गया है। जानकारी के अनुसार ग्राम इमलिया के जेपी पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को लाने ले जाने के लिए एक मारुति ओमनी कार क्रमांक यूपी 95 एवाई 7001 लगी हुई थी। इस कार में सस्ती गैसकिट फिट कराके उसे रसोई गैस सिलेंडर में गैस के जरिए चलाया जा रहा था। बुधवार को सुबह स्कूल से कुछ दूरी पर खड़ी इस कार में जब दूसरे रसोई गैस सिलेंडर से असावधानी पूर्वक गैस भरी जा रही थी, तभी अचानक एक चिंगारी निकली और पलक झपकते ही पूरी कार आग की लपटों से घिर गई। आग का गोला बनी कार को देखकर आसपास भगदड़ मच गई और ग्रामीण कार पर धूल फेंककर बुझाने के प्रयास में जुट गए लेकिन हवा के साथ आग की लपटें विकराल होती चली गई। इसी दौरान किसी ने फायरबिग्रेड और 100 डयल पुलिस को घटना की सूचना दे दी। कुछ देर में पुलिस और फायरब्रिगेड मौके पर जा पहुंची तब बड़ी मुश्किल से आग पर काबू पाया जा सका। इसे कि स्मत ही कहा जाएगा कि आग जल्दी बुझ गई और सिलेंडर में विस्फोट नहीं हो पाया। यदि विस्फोट हो जाता या फिर कार में बच्चे बैठे होते तो एक बड़ा हादसा घट जाता। उल्लेखनीय है कि प्रशासन की ओर से एक तो वैसे ही रसोई गैस से अवैध रूप से चलने वाली कारों पर प्रतिबंध है वहीं स्कूल वाहनों को रसोई गैस से न चलाने का सख्त प्रावधान भी है। इसके बावजूद इमलिया में यह वाहन काफी समय से स्कूल से संबद्ध होकर रसोई गैस से चलाया गया और बच्चों को लाने ले जाने में लगाया गया। इस हादसे के बाद अब स्कूल प्रबंधन इस बारे में कुछ भी कहने से बच रहा है। अब देखना है कि प्रशासन इस मामले में क्या कार्रवाई करता है।

नोट- फोटो 21 लगाएं के प्सन है-

हरपालपुर। आग की लपटों से घिरी कार।- 21

दुकान में आग लगने से मोबाइल, अन्य सामान खाक

लवकुशनगर। कस्बे में चंदला रोड पर स्थित रेस्टहाउस के सामने खान इलेक्ट्रिकल के नाम से इरशाद खान कारोबार करते हैं। आगे दुकान है और पीछे इरशाद अपने परिवार के साथ रहते हैं। मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात करीब डेढ़ बजे दुकान से धुआं निकलना शुरू हो गया। कुछ लोगों को धुएं की गंध आने पर उन्होंने सोचा कि शायद कोई रात में तापने के लिए कुछ जला रहा होगा। कुछ ही देर में धुएं के साथ दुकान के अंदर से आग की लपटें निकलने लगीं। अंदर मोबाइल, बिजली व अन्य इलेक्ट्रॉनिक आइटम होने के कारण कुछ ही देर में आग की लपटें विकराल हो गई और पूरी दुकान आग से घिर गई। आसपास के लोगों को जैसे ही इस आगजनी के बारे में पता चला वैसे ही आधी रात को लोग अपने घरों से बाहर निकल आए और दुकान में लगी आग को बुझाने में जुट गए। खबर मिलते ही दो दमकल वाहन भी मौके पर जा पहुंचे। इसी बीच लोगों ने इरशाद के परिवार को जलती दुकान के पीछे बने मकान से बाहर निकालकर बचा लिया। आग इतनी विकराल थी कि दो दमकल वाहन भी उस पर काबू नहीं पा सके तो चंदला और महाराजपुर से भी दो दमकल वाहन वहां लाए गए। इस तरह से करीब साढ़े 3 घंटे की मशक्कत के बाद बड़ी मुश्किल से आग पर काबू पाया गया। दुकान में रखा सारा सामान जल जाने से खान परिवार की आजीविका का साधन छिन गया है। यदि आग और विकराल होती तो आसपास के मकानों तक पहुंचने का खतरा बढ़ जाता।

नोट- फोटो 28 लगाएं के प्सन है-

लवकुशनगर। आग में धंधकती दुकान।- 28

धैर्य और समता के भाव हमेशा बनाए रखें: मुनिश्री

बड़ामलहरा। आप धार्मिक कामों में लगे रहें। मन में धैर्य और समता के भाव बनाए रखें। आप सभी को मेरा आशीर्वाद सदैव बना रहेगा। यह उद्गार मुनिश्री विरंजन सागर ने नगर के द्रोणागिरी भवन में संघ सहित विहार करने के पूर्व धर्मसभा को संबोधित करते हुए व्यक्त किए हैं।

मुनिश्री ने कहा कि आप सभी धैर्य और समता के भाव हमेशा बनाए रखें। मंदिर निर्माण के कार्य में पूर्ण मनोभाव से लगे रहें। मेरा आशीर्वाद आप सभी को सदैव मिलता रहेगा। चातुर्मास के दौरान मेरे पास जितना ज्ञान था, मैंने आप सभी को देने की पूरी कोशिश की है। जिनवाणी बहुत है मेरा जितना क्षयोपशम था सो मैंने दिया। आप सभी भाव पुरुषार्थ करते रहे। चातुर्मास काल के बाद आज अंतिम प्रवचन पश्चात मुनि श्री विरंजन सागर ससंघ विहार कर गए। अभय जैन एवं नितिन चौधरी ने बताया कि मुनिश्री के बड़ामलहरा में ससंघ चातुर्मासरत रहने से धार्मिक वातावरण बना रहा। मुनि संघ के विहार अवसर पर सकल दिगंबर जैन समाज खासतौर से युवा, बच्चे एवं महिलाएं विदाई देने उनके साथ में चल दिए। सकल दिगम्बर जैन समाज ने मुनि संघ को नम आंखों से विदाई देते हुए कहा कि जनसंत मुनिश्री विरंजन सागर का ससंघ चातुर्मास हमेशा समाज की स्मृतियों में रहेगा। संयोजक द्वय ने बताया कि मुनि संघ ने आहार क्षेत्र के लिए गमन किया है, जो फिलहाल जैन तीर्थ द्रोणागिरी में विश्राम करेगा। इस मौके पर जैन समाज के अध्यक्ष महेश डेवडिया, मंत्री राजेंद्र कुमार जैन, उपमंत्री कमल जैन सूरजपुरा, शील डेवडिया, सुशील मोदी, सतीश मोदी, सुरेश डेवडिया, प्रमोद पाटनी, भागचंद्र जैन पीली दुकान, शील पनवारी, सन्तोष सिंघई, आंनद पाटनी, प्रमोद जैन गट्टू, अरविंद जैन टिंकू , जीवनधर जैन जडेजा, राजकुमार बमनी सहित बड़ी संख्या में समाज के लोग मौजूद थे।

नोट- फोटो 29 लगाएं के प्सन है-

बड़ामलहरा। मुनिश्री का आशीर्वाद लेते श्रद्धालु।-29

फूला देवी मंदिर में निःशुल्क नेत्र शिविर कल

छतरपुर। बायपास रोड स्थित मां फूलादेवी मंदिर प्रांगण में 6 दिसंबर को निःशुल्क नेत्र शिविर लगाया जाएगा। फूला देवी सेवा समिति द्वारा सद्गुरु नेत्र चिकित्सालय चित्रकूट के सहयोग से लग रहे इस शिविर में मरीजों का निःशुल्क नेत्र परीक्षण करके मोतियाबिंद वाले मरीजों को ऑपरेशन के लिए चित्रकूट ले जाया जाएगा। बताया गया है कि यह शिविर सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजे तक लगेगा। शिविर में मरीज को भोजन, दवाएं आदि की सुविधा भी मिलेगी। रजिस्ट्रेशन के लिए मोबाइल 7000955482 तथा 9425144597 पर संपर्क किया जा सकता है। फूला देवी सेवा समिति के डॉ. हृदेश खरे, अंचल शुक्ला, दिनेश यादव, संजय सोनी, विजय असाटी, अनिल बरसैंया, सीताराम सोनी, पत्रकार पप्पू गुप्ता, अभिलाष पटेल, मुरारी सोनी, हल्के सोनी, गुड्डा चौधरी, राजेन्द्र अग्रवाल, अरुण अग्रवाल, राजू और मनु अग्रवाल के अलावा मुके श घोष, चंदू ताम्रकार, प्रेम रैकवार, पप्पू अनुरागी ने सभी नेत्र रोगियों से शिविर का लाभ लेने की अपील की है।

मनमाने तरीके से बनाई जा रही सड़क

छतरपुर। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत एक करोड़ 39 लाख रुपए की लागत से ग्राम गोपालपुरा पहुंच मार्ग को बिजावर से बाजना जाने वाले पहुंच मार्ग से जोड़ने के लिए मनमाने तरीके से घटिया काम कराया जा रहा है। ग्रामीणों ने इस बारे में अधिकारियों से शिकायत करके जांच की मांग की है। शिकायत पत्र का हवाला देते हुए ग्रामीणों ने बताया कि इस सड़क में कई पुलियों और सड़क का निर्माण घटिया सामग्री से किया जा रहा है। समय रहते अगर इसमें सुधार नहीं किया गया तो यह सड़क एक वर्ष के अंदर पुनः खस्ताहाल हो जाएगी। सड़क के निर्माण की जांच न होने पर ग्रामीणों ने आंदोलन की चेतावनी दी है।

Posted By: Nai Dunia News Network