छतरपुर। दो बेटों की कुल्हाड़ी से निर्मम हत्या व पत्नी को बुरी तरह से घायल करने वाले युवक को तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश एमडी रजक की अदालत ने दोषी करार देकर उम्रकैद व जुर्माने की सजा सुनाई है।

एडवोकेट लखन राजपूत ने बताया कि फरियादी बसाटा निवासी फरियादी साहित प्रजापति ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि 17 नवंबर 2016 की रात करीब 9 बजे सोहित को रमेश कुशवाहा ने बताया कि कालीचरण कुशवाहा ने अपने तीनों मासूम बच्चों करन, लोकेंद्र, भोले और पत्नी मालती को कुल्हाड़ी से मार दिया है। इसके बाद उसने मौके पर जाकर देखा कि लोकेंद्र और भोले मृत हालत में खून से लथपथ पड़े थे। करन और मालती की हालत गंभीर थी। पुलिस ने मौके पर आकर आरोपित को गिरफ्तार किया और उसके कब्जे से कुल्हाड़ी जब्त कर ली। पूछताछ में कालीचरण ने बताया कि उसे शक था कि उसकी पत्नी के नाजायज संबंध हैं। इसी अधार पर उसने हमला किया है। पुलिस ने इस मामले को जघन्य एवं सनसनीखेज मामले में चि-ति किया। एसपी तिलक सिंह के निर्देशन में एएसपी जयराज कुबेर और एडीपीओ केके गौतम ने लगातार मामले की समीक्षा एवं मॉनीटरिंग की। निरीक्षक एसपी सिंह सिसौदिया ने मामले को कोर्ट में पेश किया। अभियोजन की ओर से डीपीओ एसके चतुर्वेदी और एडीपीओ अमित मणि त्रिपाठी ने पैरवी करते हुए सभी सबूत कोर्ट के सामने रखे और दलील पेश की कि आरोपित ने सोने के दौरान अपने मासूम बच्चों और पत्नी के ऊपर हमला कर निर्मम हत्या की है। जिसमें दो बच्चों की मौत हो गई। ऐसे जघन्य अपराध के आरोपित को कड़ी सजा दी जाए। तृतीय अपर सत्र न्यायाधीश एमडी रजक की अदालत ने आरोपी कालीचरण उर्फ कल्लू को दोषी ठहराते हुए उम्रकैद के साथ 30 हजार रुपए के जुर्मान से दंडित किया है।

नोट- फोटो 32 का कै प्सन है-

छतरपुर। अदालत से हत्यारे को जेल ले जाती पुलिस।-32

किशोरी से दुराचार करने वाले को सुनाई 10 साल की सजा

छतरपुर। 17 वर्षीय नाबालिग किशोरी को बहला-फु सलाकर भगाकर उसके साथ दुराचार करने वाले आरोपित को न्यायाधीश नौरिन निगम की अदालत ने दोषी करार देकर 10 साल कठोर कैद व जुर्माने की सजा सुनाई है।

एडवोकेट लखन राजपूत ने बताया कि फरियादिया ने सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसकी नाबालिग भतीजी 26 जून 2018 को सुबह 10 बजे बिना बताए कहीं चली गई। तलाशने के बावजूद उसका पता नहीं चल सका। उसे शक है कि रवि अहिरवार निवासी गौरैया उसकी भतीजी को बहला-फु सलाकर भगा ले गया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर विवेचना के दौरान पीड़िता को दस्तयाब किया। पीड़िता ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि रवि उसे भगाकर ले गया था और उसके साथ दुराचार किया। पुलिस ने आरोपित रवि अहिरवार को गिरफ्तार कर मामला कोर्ट में पेश किया। डीपीओ एसके चतुर्वेदी ने अभियोजन की ओर से पैरवी करते हुए सबूत एवं गवाह कोर्ट में पेश किए। विशेष न्यायाधीश नौरिन निगम की कोर्ट ने आरोपित रवि अहिरवार को दोषी करार देते हुए लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम की धारा 5/6 में 10 साल की कठोर कैद के साथ 5 हजार जुर्माना, आईपीसी की धारा 363 में 3 साल की कठोर कैद के साथ 1 हजार जुर्माना, धारा 366 में 7 साल की कठोर कैद के साथ 2 हजार के जुर्माने की सजा सुनाई है।

शुक्रवार की खास जानकारी-

सूर्योदय-सुबह 6.47

सूर्यास्त-शाम 6.05

तापमान-अधिकतम-29.0 डिसे

न्यूनतम-12.0 डिसे

रसोई गैस सिलेंडर-885 रुपए

व्यवसायिक गैस सिलेंडर-1504 रुपए

डीजल-71.86 रुपए

पेट्रोल-81.09 रुपए

फे सबुक वाल से-

शहर से गुजरे दो नेशनल हाइवे रीवा-ग्वालियर व सागर-कानपुर सहित बाजार में आसानी से चलना जोखिमपूर्ण हो गया हैे। हाइवे व बाजार में अतिक्रमण व बेतरतीब पार्किंग के कारण दिन में कई बार जाम लगते हैं हादसे होते रहते हैं। जिससे लोग परेशान हैं प्रशासन को इस समस्या के निराकरण की ओर प्रमुखता से ध्यान देना चाहिए।

शिवा सक्सेना

शिक्षिका, महर्षि विद्या मंदिर छतरपुर

नोट- फोटो 31 का कै प्सन है-

छतरपुर। शिवा सक्सेना।-31

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket