- 38 दिनों में किया गया रिकार्ड मात्रा में तेंदूपत्ता संग्रहण

बकस्वाहा। लॉकडाउन के दौरान वन विभाग के सहयोग से मास्क लगाकर व दो गज की दूरी का पूरा ध्यान रखकर तेंदूपत्ता संग्रहण का कार्य तेजी से किया जा रहा है।

वन परिक्षेत्र बकस्वाहा में 15 अप्रैल से तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य सतत रूप से जारी रहने के कारण इससे जुड़े लोगों को आर्थिक राहत मिलने लगी है। विभाग की मानें तो 1 सप्ताह में तेंदूपत्ता का लक्ष्य आसानी से पूरा हो जाएगा। उप वनमंडल अधिकारी केबी गुप्ता बताया कि वन परिक्षेत्र अधिकारी एसके सचान द्वारा क्षेत्र में तेंदूपत्ता की तुड़ाई व संग्रहण कार्य कराया जा रहा है। परिक्षेत्र के अंतर्गत कुल छह तेंदूपत्ता समितियां हैं, जिन्होंने इस सीजन में 4300 मानक बोरा तेंदूपत्ता संग्रहण करने का लख्य रखा है। संग्रहण के 38 दिनों में समिति केरो में 948 मानक बोरा, बकस्वावाहा में 548.870 मानक बोरा, कि शनपुरा में 430.400 मानक बोरा, जुझारपुरा में 141.390 मानक बोरा, मडदेवरा में 90.400 मानक बोरा एवं निवार समिति में 41.500 मानक बोरा तेंदूपत्ता का संग्रहण किया जा चुका है। बताया गया है कि गत वर्ष 2500 परिवारों ने तेंदूपत्ता संग्रहण का कार्य किया था। इस वर्ष लगभग 9340 मजदूर तेंदूपत्ता तोड़ने का कार्य कर रहे हैं।

2500 रुपये बोरा खरीदा जा रहा तेंदूपत्ता

बकस्वाहा के वन परिक्षेत्र अधिकारी एसके सचान ने बताया कि तेंदूपत्ता संग्रहण के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के सभी साधनों व एहतियातों का पालन किया जा रहा है। संग्राहक मास्क लगा रहे हैं और हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग करके दो गज की दूरी से फड़ों पर खड़े होकर इस कार्य में लगे हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार से सभी तेंदूपत्ता समितियों का भुगतान किया जाएगा। इस वर्ष 2500 रुपये प्रति मानक बोरा के हिसाब से खरीद की जा रही है। शासन के निर्देशानुसार संग्राहकों को नगद भुगतान किया जाएगा। विभागीय अमला तेंदूपत्ता फड़ों की सतत निगरानी में लगा है। खराब पत्तों की गड्डी मिलने पर संग्राहक को हिदायत देकर सुधार कराया जा रहा है, जिससे संग्राहकों को किसी तरह से नुकसान न हो।

नोट- फोटो 23 का कै प्सन है-

बकस्वाहा। तेंदूपत्ता संग्रहण की निगरानी करता वन अमला।-23

नवीन शिक्षक संवर्ग को मिला समूह बीमा योजना का लाभ

छतरपुर। राज्य शासन के स्कूल शिक्षा विभाग ने राज्य स्कूल शिक्षा सेवा में शामिल नवीन शिक्षक संवर्ग को समूह बीमा सह बचत योजना का लाभ देने का आदेश जारी कर दिया है। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष अनुपम त्रिपाठी ने बताया कि प्रांत अध्यक्ष भरत पटेल के नेतृत्व में संघ द्वारा लगातार किए संघर्ष के परिणाम स्वरूप अध्यापकों को बराबरी का दर्जा मिला है। मुख्यमंत्री ने नवीन शिक्षक संवर्ग के प्रति सहानुभूति दिखाते हुए समूह बीमा योजना का लाभ दिया है। संघ के पदाधिकारियों व सदस्यों में रजनी जैन, डॉ. आरबी पटेल, जगदीश सोनी, अनिल शुक्ला, राकेश द्विवेदी, बाबूराम अहिरवार, हेमा नायक, वीरसिंह यादव, ममता राय, अरुण मिश्रा, यादवेंद्र सिंह, परमानंद पांडे, राजेंद्र पटेल, सचिन द्विवेदी ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया है।

घर में घुसकर विवाहिता से की छेड़छाड़

नौगांव। लोकनिर्माण विभाग के सरकारी आवास में रहने वाली एक विवाहिता से छेड़छाड़ करके उसे जान से मारने की धमकी देने का एक मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने बताया कि 19 वर्षीय महिला जब अपने सरकारी आवास में घर के काम काज निपटा रही थी तभी शाम करीब 4 बजे लोक निर्माण विभाग में काम करने वाला सुरेश उसके घर के अंदर घुसकर विवाहिता से छेड़छाड़ करने लगा। महिला के चिल्लाने की आवाज सुनकर उसके सास ससुर वहां आ गए। उन्हें देखकर महिला को जान से मार देने की धमकी देकर आरोपित भाग गया। महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ कार्रवाई करके उसकी तलाश शुरू कर दी है।

नए श्रम कानून का विरोध कर जताया आक्रोश

नौगांव। प्रदेश सरकार द्वारा हाल में लाए गए नए श्रम कानून के प्रति आक्रोश जताकर उसका विरोध किया गया है। स्वाश्रयी महिला सेवा संघ के बैनर तले स्वाश्रयी सेवा की ब्लाक नौगांव की को-ऑर्डिनेटर दिव्या तिवारी व अन्य महिलाओं ने विरोध जताते हुए कहा है कि शासन द्वारा श्रम कानून में सुधार के नाम पर कारखानों में 12 घंटे कार्य करने वाले श्रमिकों का वेतन काटने, गेहूं उपार्जन में लगे श्रमिकों का शोषण करने का जो कदम उठाया है, उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यदि सरकार ने इस पर पुनर्विचार नहीं किया तो आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा।

नोट- फोटो 24 का कै प्सन है-

नौगांव। विरोध जताती महिलाएं।-24

पुराने कुओं-सड़क को मनरेगा में नया बताकर हड़पी जा रही राशि

- आरोपों की जांच व कार्रवाई की मांग

खजुराहो। जनपद पंचायत राजनगर के अंतर्गत ग्राम पंचायत चौबर में पुराने कुओं व पुरानी सड़कों को मनरेगा से नए काम कराने के रूप में दर्शाकर फर्जी मस्टर रोल से राशि हड़पी जा रही है। इस बारे में अधिकारियों से शिकायतें करके जांच व कार्रवाई की मांग की गई है।

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत चौबर में मनरेगा से 9 हितग्राहियों के नाम से कपिलधारा कूप तथा ग्राम विकास के लिए सुदूर सड़क निर्माण कार्य स्वीकृत हुए हैं। पंचायत प्रतिनिधि हितग्राहियों के पुराने कुओं को मनरेगा से नया कु आं दिखाकर कूटरचित दस्तावेजों से मनमानी पर उतारू हैं। दिनेश विश्वकर्मा ने मनमानी का आरोप लगाते हुए बताया कि फर्जी मस्टर के सहारे टिकोला पुत्र बरजोरा अहिरवार के कपिलधारा कूप निर्माण में मजदूरों से कार्य करना दिखाया गया है, जबकि कुआं पहले से ही निर्मित है। इसी तरह जगोला पुत्र बलदुआ अहिरवार का कपिलधारा योजना के अंतर्गत कूप स्वीकृत है, जबकि जिसमें मजदूरों से कार्य प्रगति पर बताया जा रहा है। जबकि ये कु आं भी पूर्व से निर्मित है। दिनेश के अनुसार ग्राम जमुनिया से चौबर तक पूर्व से निर्मित मार्ग को सुदूर सड़क निर्माण कार्य योजना के अंतर्गत मजदूरों से निर्माण कार्य कराना दिखाकर बाकायदा फर्जी मस्टर भरकर राशि निकाली जा रही है। मौके से वीडियो तथा फोटोग्राफ्स के जरिए सबूत जुटाए गए हैं, जो जांच अधिकारी के सामने प्रस्तुत किए जाएंगे।

इनका कहना है

जिन कुओं का कार्य मनरेगा से कराना बताया गया है, उनको स्वीकृति नहीं दी गई है। सड़क में 2 माह पूर्व मस्टर जारी किए गए थे। इसके बाद लॉकडाउन शुरू हो गया। फिर भी इस मामले की बिंदुवार जांच कराई जाएगी।

प्रतिपाल सिंह बागरी

सीईओ, जनपद पंचायत राजनगर

नोट- फोटो 26 व 27 का कै प्सन है-

खजुराहो। पुराने कुएं, जिन्हें मनरेगा से नया बना बताया जा रहा है।-26, 27

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस