- कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी ने दी बड़ी सौगात

- संतों की उपस्थिति में चाचा की रसोई का शुभारंभ 15 अक्टूबर को

Chhatarpur chacha ki Kitchen News: छतरपुर.नईदुनिया प्रतिनिधि। छतरपुर के कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी ने अपने जन्मदिन पर गरीब, असहाय जनता को एक बड़ी सौगात दे रहे हैं। उनके द्वारा गरीब जनता को भरपेट भोजन कराने के लिए किशोर सागर तालाब के समीप बनाए गए सेवाग्राम में एक हाईटेक रसोई का निर्माण किया गया है जहां शुद्ध स्वादिष्ट भोजन की थाली सिर्फ एक रूपए में हर किसी को उपलब्ध होगी।

खेलग्राम परिवार की ओर से विधायक आलोक चतुर्वेदी के पुत्र नितीश चतुर्वेदी मिक्की ने बताया कि विजयादशमी पर्व एवं पिता के जन्मदिन के उपलक्ष्य में 15 अक्टूबर शुक्रवार सुबह 10 बजे किशोर सागर तालाब के समीप सेवाग्राम में बनाई गई चाचा की रसोई का लोकार्पण समारोह आयोजित किया गया है। पूज्य संत किशोरदास महाराज पड़रिया धाम एवं धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री बागेश्वर महाराज की उपस्थिति में इस रसोई का शुभारंभ किया जाएगा। इस अवसर पर जिले के अनेक मंदिरों के साधु संत एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहेंगे। वैदिक रीति-रिवाज, पूजन एवं कन्याभोज व साधु भण्डारे के साथ यह रसोई आज से प्रारंभ हो जाएगी। रसेाई के लोकार्पण के पूर्व यहां रामधुन का पाठ बैठाया गया है। पूजन के बाद आज ही इस पाठ का समापन होगा। इस रसोई की प्रेरणा बागेश्वर महाराज के द्वारा दी गई थी जिसे उनके ही करकमलों के माध्यम से प्रारंभ किया जा रहा है।

प्रदेश की पहली होटलनुमा हाईटेक रसोई, भोजन सिर्फ एक रूपए में

छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी जनता की सेवा के लिए किए जा रहे अपने कार्यों के लिए हमेशा चर्चा में रहते हैं। 10 साल पहले छतरपुर में मौजूद जलसंकट को देखते हुए उन्होंने घर-घर पानी पहुंचाने के लिए अपने निजी खर्चे से 100 से ज्यादा टैंकरों को सेवाओं में उतारा था। हर वर्ष गर्मियों के दौरान यह सेवा जारी रहती है। कोरोना काल में जब जनमानस ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा था तब उन्होंने खेलग्राम में ऑक्सीजन कंसटे्रटर बैंक की स्थापना कर लोगों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराया था। इस बार भी वे अपनी सेवा से लोगों का दिल जीत रहे हैं। उनके द्वारा गरीबों, असहायों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए किशोर सागर पर जो रसोई बनाई गई है वह किसी होटल से कम नहीं है। पूरी तरह वातानुकूलित इस रसोई में स्वच्छता और सुंदरता का विशेष ध्यान रखा गया है। लोगों को एक रूपए का टोकन शगुन के रूप में लेकर भोजन की पूरी थाली मिल सकेगी। भोजन बनाने और उसे परोसने के लिए भी हाईटेक मशीनों का उपयोग किया जा रहा है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local